सरिता विशेष

भाजपा के धुर विरोधी राजद सुप्रीमो लालू यादव भाजपा की एक सांसद के इतने बड़े फैन हैं कि उन्होंने उनके नाम पर अपनी एक बेटी का नाम भी रखा था. पिछले दिनों जब वह सांसद पटना पहुंची, तो उन्हें देख कर लालू अपने पुराने रौ में बह निकले. लालू ने स्टेज पर भाजपा सांसद की खुल कर तारीफ की और मुस्कुराते हुए उनसे कह दिया- ‘हम आपसे और आपकी कला से बहुत प्यार करते हैं. आपसे मुझे इतना प्रेम है कि मैंने अपनी एक बेटी का नाम आपके नाम पर ही रखा है.’ लालू यादव के सरेआम इजहारे मोहब्बत पर सांसद महोदया खिलखिलाती रहीं और जबाब में उन्होंने भी कह डाला कि वह भी लालूजी की फैन हैं.

पटना जिला प्रशासन और बिहार चैंबर औफ कामर्स के द्वारा आयोजित दीपावली मिलन समारोह में लालू भाजपाई सांसद पर इस कदर फिदा रहे कि पूरा हौल ठहाकों से गूंजता रहा. दरअसल भाजपा सांसद और हीरोईन हेमा मालिनी समारोह में नृत्य नाटिका पेश करने पहुंची थीं. उन्हें रूबरू देखकर लालू के जेहन में बसी तमाम पुरानी यादें ताजा हो उठीं. उन्होंने हेमा को बताया कि उनके ही नाम पर उन्होंने अपनी एक बेटी का नाम हेमा यादव रखा था. नृत्य नाटिका खत्म होने के बाद लालू मंच पर पहुंच गए और माइक थाम लिया और ठेठ गवंई अंदाज में हेमा मालिनी की तारीफ के पुल बांधने शुरू कर दिये.

लालू ने कहा कि हेमा मालिनी आज भाजपा की सांसद हैं, इसके बाद भी वह उनसे बेपनाह प्रेम करते हैं. लालू ने कबूल किया कि राजनीतिक रूप से भले ही वह हेमा का विरोध करते रहे हों, पर सांस्कृतिक स्तर पर वह हेमा मालिनी के बहुत बड़े फैन हैं. फैन ही नहीं एयर कंडीशनर हैं. लालू ने कहा कि उनके एक बुलावे पर हेमा पटना पहुंच गई. इसके साथ ही लालू ने अपने विरोधियों और बिहार में जंगलराज की दुहाई देने वालों पर जमक कर निसाना साधा. उन्होंने कहा कि कुछ लोग हल्ला मचा रहे हैं कि लालू यादव के सरकार में आने के बाद बिहार में जंगलराज आ गया हैं. हेमा मालिनी बिहार आई हैं और वह बताएंगी कि क्या उन्हें बिहार में जंगलराज जैसा माहौल लगता है. हेमा ने लालू के समर्थन में नहीं में अपनी गर्दन को हिलाया. लालू ने आगे कहा कि हेमा जी ने बिहार आकर जंगलराज की अफवाह को तोड़ दिया है. लालू माइक थामे लगातार बोलते रहे और हेमा मुस्कुराती रही और बीच-बीच में वह खिलखिला कर हंस पड़ती.

लालू के हेमा प्रेम को देखकर स्टेज पर मौजूद उनके बेटे और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी पीछे नहीं रहे. उन्होंने कहा कि हेमा जी से मुलाकात कराने के लिए वह अपने पिता का शुक्रिया अदा करते हैं. उनकी वजह से ही हेमा मालिनी जैसे बड़े सितारे को सामने से देख सके हैं. तेजस्वी ने कहा कि उनके पापा ने एक बार हेमा जी को पटना आने का न्यौता दिया और वह पहुंच गईं.

लालू का हेमा मालिनी के प्रति प्रेम काफी पुराना है. वह अकसर कहते रहते हैं कि वह हेमा मालिनी और उनकी फिल्मों को काफी पसंद करते रहे हैं. गौरतलब है कि जब लालू यादव साल 1990 में पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री बने थे, कहा था कि बिहार की तमामा सड़कों को वह हेमा मालिनी की गाल की तरह चिकना बना देंगे.