सरिता विशेष

जब भी महिलाएं खुद आई मेकअप करती हैं, तो कोई न कोई कमी रह जाती है और फिर वे परेशान हो उठती हैं. मगर अब वे परेशान नहीं होंगी, क्योंकि इन कुछ खास बातों को ध्यान में रख कर वे खुद ही मेकअप आर्टिस्ट जैसा मेकअप कर किसी भी पार्टी की शान बन सकती हैं:

आई प्राइमर से टिकेगा मेकअप: यदि आई मेकअप करने के बाद वह कुछ ही घंटों में फैलने लगे तो पूरा लुक खराब हो जाता है. ऐसे में आई प्राइमर का रोल अहम हो जाता है. चेहरे पर सब से पहले आई मेकअप करें. आई मेकअप का बेस भी चुन कर लगाएं ताकि आप की आईशैडोज का लुक निखर आए. सब से अधिक परेशानी तैलीय पलकों वाली महिलाओं को होती है. आप बीबी व सीसी क्रीम और अपनी पसंद के कंसीलर को मिला कर आईबेस क्रीम तैयार कर सकती हैं, इस के बाद लूज पाउडर से इसे सैट करें ताकि पलकें तैलीय न रह जाएं.

कंसीलर: एक गलत धारणा है कि अगर आंखों के नीचे काले घेरे या दागधब्बे न हों तो कंसीलर की जरूरत ही न पड़े, लेकिन ऐसा नहीं है. हलके मेकअप में लाइट कवरेज कंसीलर का प्रयोग करें.

मेकअप आर्टिस्ट भव्या कहती हैं, ‘‘कलर करैक्टर का अहम रोल है. जब भी खुद मेकअप करने की बात आती है, तो अपनी अंडर टोन स्किन की पहचान करें, जिस में 3 विकल्प हैं- यलो अंडरटोन, औरेंज अंडरटोन व ब्लू अंडरटोन. स्किन अंडरटोन की पहचान के बाद अच्छा करैक्टर खरीदें. इस के बाद कंसीलर लगाएं और लूज पाउडर सैट करें.’’

आईशैडो: आईशैडो का लुक तभी निखर कर आता है जब इसे अच्छी तरह ब्लैंड किया जाए. मेकअप आर्टिस्ट बेहद खूबसूरती से आईशैडो को ब्लैंड करती है. अगर आप खुद मेकअप करने जा रही हैं, तो ब्लैंडिंग पर खास ध्यान दें. आईशैडो में एक रंग का चुनाव या

2 रंगों का चुनाव कर रही हैं यह अहम नहीं है. ब्लैंड के दौरान इस बात का ध्यान रखें कि यह अच्छी तरह मिक्स हो जाए. आईशैडो भी कई विकल्पों में मौजूद हैं- जैसेकि पाउडर बेस आईशैडो, क्रीम बेस आईशैडो.

लेकिन सब से ज्यादा चलन में पाउडर आईशैडो है. यह लगाने में आसान होता है और इसे लगाने में रंग भी खूब निखर कर आता है. मैट, साटन, शिमर, पर्ली, ग्लिटरी ये सभी आईशैडो अपने लुक व ड्रैस के अनुसार लगा सकती हैं. स्मोकी आई के लिए डार्क आईशैडो चुन सकती हैं. आईब्रोज हाईलाइट करने के लिए शिमर आईशैडो का प्रयोग करें. साटन व मैट आईशैडो अधिकतम क्रीज पर प्रयोग किया जाता है. नैचुरल लुक के लिए हलके ब्राउन शेड का प्रयोग करें.

आई मेकअप ब्रश की सही जानकारी: मेकअप मार्केट में कई तरह के मेकअप ब्रश मौजूद हैं. फ्लैट ऐप्लिकेटर ब्रश का प्रयोग आईशैडो को पलकों पर लगाने के लिए किया जाता है. इस की जगह आप फिंगर टिप का भी प्रयोग कर सकती हैं. भव्या कहती हैं, ‘‘पैंसिल ब्रश का प्रयोग ऊपरी व निचली लैशलाइन पर आईशैडो लगाने के लिए और आंखों के किनारों को हाईलाइट करने के लिए किया जाता है. ब्लैंडिंग ब्रश से आप क्रीज पर आईशैडो को मिक्स करती हैं. यह ब्रश सभी के लिए काफी कारगर रहता है. फ्लैट ऐंगल ब्रश भी एक खास तरह का ब्लैंडिंग ब्रश है जो किनारों व ब्रो बोन को उभारने में प्रयोग में लाया जाता है.

आईलाइनर: आजकल बाजार में कई तरह के आईलाइनर उपलब्ध हैं. इन में सब से ज्यादा चलन में लिक्विड ब्लैक आईलाइनर है. लेकिन वाटरप्रूफ आईलाइनर को अपने मेकअप बौक्स में शामिल करें. पैंसिल आईलाइनर लगाने में काफी आसान है.

आप इसे आईशैडो की तरह भी इस्तेमाल कर सकती हैं. लेकिन शार्प लुक के लिए पैंसिल को शार्प रखें. कैटआईज के लिए पैन आईलाइनर का प्रयोग करें. अगर जल्दी में हैं तो पैन आईलाइनर आप के लिए सब से अच्छा विकल्प है.

काजल: काजल के बिना मेकअप पूरा नहीं होगा. आई मेकअप में काजल की अहम जगह है. अगर आंखें थकी व हैवी हैं, तो काजल लगाते ही यह कमी भी छिप जाती है.

इस बारे में मेकअप ऐक्सपर्ट सौम्या चतुर्वेदी बताती हैं, ‘‘ब्लू, ग्रे, ग्रीन, ब्लैक जैसे कई रंगों

में काजल बाजार में मौजूद है. काली व भूरी आंखों पर हरे रंग का काजल लगाया जा सकता है. ग्रीन रंग की आंखों पर बैंगनी, हलका भूरा, नीला, ग्रीन आदि रंग फबते हैं. नीली आंखों पर नीले रंग का काजल लगाने से बचें. काला, ग्रे, वायलेट आदि रंगों से नीली आंखों की सुंदरता और निखर कर आएगी.’’

आईब्रोज: चेहरे की सुंदरता बढ़ाने के लिए आईब्रो कलर पर खास ध्यान दें. आईब्रो कलर से आप चेहरे को आकर्षक बना सकती हैं. शेप देने के लिए ब्राउन पैंसिल का इस्तेमाल करें. आईब्रो कलर चुनने से पहले अपने बालों व स्किन टोन का ध्यान रखें. ये नैचुरल दिखने चाहिए.

पलकें: जब भी मसकारा लगाएं अपनी पलकों को कर्ल करना न भूलें. यह आप की पलकों को आकर्षक अंदाज देगा.

भव्या कहती हैं, ‘‘अकसर मसकारा लगाते समय फैलने का डर रहता है. ऐसे में इस ट्रिक का प्रयोग करें- ऊपरी पलकों पर लगाते समय चेहरे को ऊपर उठा लें व नीचे की पलकों पर नीचे देखते हुए लगाएं.’’ आपस में चिपकी पलकें मसकारे के लुक को बिगाड़ देती हैं. ऐसे में मसकारा नीचे से ऊपर तक जिगजैग अंदाज में लगाएं, साथ ही पहला कोट सूखने के बाद ही दूसरा कोट लगाएं. मसकारा सूखने के बाद आईलैश कौंब का प्रयोग कर के इन्हें क्लीन लुक दें.

नकली पलकों पर मसकारे का एक ही कोट काफी है. नकली पलकें लेते समय इस बात का ध्यान रखें कि वे आप की लैशलाइन के काफी करीब हों.