सरिता विशेष

विंड टरबाइन बनाने वाली जरमनी की कंपनी मेसा भारत में सौर ऊर्जा क्षेत्र में निवेश की योजना बना रही है. उसे उम्मीद है कि भारत सरकार सौर ऊर्जा भारत सरकार को जिस तरह से बढ़ावा दे रही है उसे देखते हुए पवन ऊर्जा उत्पादन के लिए टरबाइन बनाने के साथ ही सौर ऊर्जा क्षेत्र में भी उल्लेखनीय कारोबार करने में वह सफल होगी.

कंपनी भारत में सोलर पैनल तैयार करने के पक्ष में नहीं है बल्कि कंपनी सोलर फार्म विकसित करने के साथ ऐसा इनवर्टर बनाना चाहती है जिस से सोलर पैनल करंट वैकल्पिक करंट के रूप में तबदील हो सके. उस कंपनी का विंड का वैश्विक स्तर पर बड़ा कारोबार है. वह ब्राजील, चीन तथा दक्षिण अफ्रीका में विंड टरबाइन की बिक्री के कारोबार से लंबे समय से जुड़ी है और इस क्षेत्र में दुनिया की शीर्ष कंपनियों में शामिल है.

कंपनी ने 5-6 साल पहले भारत में अपनी गतिविधियां शुरू की थीं और इस साल उस ने भारत में 900 मेगावाट की बिक्री कर ली. कंपनी का भरोसा भारत के सौर ऊर्जा कार्यक्रम पर है जिस को ले कर केंद्र सरकार बड़ीबड़ी घोषणाएं कर रही है. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वैश्विक मंच पर सौर ऊर्जा के उत्पादन की महत्ता और इसे भविष्य की ऊर्जा बता कर विश्व समुदाय को सौर ऊर्जा उत्पादन क्षेत्र में आने के लिए उत्साहित कर रहे हैं.