भारत में नए क्रिकेट खिलाड़ियों की पौध लहलहा रही है. इसी का नतीजा है कि अंडर-19 की भारतीय क्रिकेट टीम ने ढाका, बंगलादेश में शानदार खेल दिखाते हुए श्रीलंकाई टीम को 144 रनों से हरा कर छठी बार अंडर-19 का एशिया कप अपने नाम कर लिया. फाइनल मुकाबले में भारतीय अंडर-19 टीम ने 3 विकेट पर 304 रन का बड़ा स्कोर बनाने के बाद श्रीलंकाई टीम को 38.4 ओवर में 160 रनों पर समेट दिया.

आप को याद होगा कि हाल ही में रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय सीनियर टीम ने बंगलादेश को हरा कर एशिया कप का खिताब अपने नाम किया था.

ढाका में खेले गए अंडर-19 के इस फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम ने टौस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. भारतीय ओपनर यशस्वी जायसवाल ने 85 और अनुज रावत ने 57 रन बना कर भारतीय टीम को शानदार शुरुआत दी. उन दोनों ने पहले विकेट के लिए 121 रनों की साझेदारी की. अनुज रावत ने 79 गेंदों पर 4 चौके और 3 छक्के जड़े जबकि यशस्वी जायसवाल ने 113 गेंदों की अपनी बेहतरीन पारी में 8 चौके और 1 छक्का लगाया.

इस के बाद कप्तान पी. सिमरन सिंह ने 37 गेंदों पर 3 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 65 रनों की नाबाद पारी खेली. साथ ही, आयुष बडोनी ने नाबाद 52 रन का योगदान दिया. दोनों ने चौथे विकेट के लिए नाबाद 110 रनों की पार्टनरशिप की.

श्रीलंकाई टीम के लिए डी. परनाविथाना ने 48 और ओपनर बल्लेबाज एम. फर्नांडो ने 49 रन बनाए. उन दोनों के अलावा सूर्याबंडारा ने 31 रनों का योगदान दिया.

‘मैन औफ द मैच’ रहे भारत के युवा गेंदबाज हर्ष त्यागी ने कमाल का प्रदर्शन करते हुए 38 रन दे कर 6 विकेट झटके जबकि 18 साल के सिद्धार्थ देसाई ने 2 विकेट अपने नाम किए.

भारत यह कप छठी बार जीता है जो एक रिकार्ड है. साल 2012 में भारत को पाकिस्तान के साथ इस खिताब को बांटना पड़ा था. तब कुआलालंपुर में उन्मुक्त चंद की कप्तानी मे भारतीय और पाकिस्तानी अंडर-19 टीम के बीच खेला गया फाइनल मुकाबला टाई रहा था.

COMMENT