आईपीएल के 12 सीजन की शुरुआत हो चुकी है. सीजन का पहला मैच चेन्नई और बैंगलुरू के बीच हुआ, जिसमें रौयल चैलेंजर्स बैंगलुरू मात्र 70 रनों पर ढेर हो गई थी. मैच के बाद दोनों ही टीमों के कप्तानों ने पीच के खराब होने की बात कही. दोनों ने ही कहा कि पिच वैसी नहीं थी जैसी उन्होंने उम्मीद की थी. इन दोनों के अलावा औस्ट्रेलियन खिलाड़ी मैथ्यू हेडन ने भी इसे खराब स्तर का बताया.

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने टूर्नामेंट के बाकी मैचों के लिए आईपीएल की फ्रेंचाइजी कंपनियों से स्पोर्टिंग विकेट तैयार करने को कहा है.  बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बोर्ड लीग के दौरान तैयार किए गए विकेटों में हस्तक्षेप नहीं करता है, लेकिन विकेट को बल्लेबाजों या गेंदबाजों, किसी के भी ज्यादा अनुकूल नहीं होना चाहिए.

अधिकारी ने कहा कि, ‘फ्रैंचाइजी, बीसीसीआई के बिना किसी हस्तक्षेप के विकेट तैयार करने के लिए स्वतंत्र हैं, लेकिन विकेट स्पोर्टिंग होना चाहिए, यह न तो ज्यादा बल्लेबाजों के और ना ही ज्यादा गेंदबाजों के अनुकूल होना चाहिए.’

आपको बता दें कि मैच के तुरंत बाद ही धोनी ने कहा था कि, ‘हम विकेट को लेकर ज्यादा निश्चित नहीं थे। हम वाकई में हैरान थे कि विकेट इतना धीमा था. इसने मुझे 2011 में चैम्पियंस लीग के मुकाबले की याद दिला दी। इस विकेट को जल्दी बेहतर बनाना होगा. दूसरी टीमों के पास भी अच्छे स्पिनर्स हैं। यह ऐसी पिच नहीं है जिसे हम आगे के मुकाबलों में देखना चाहेंगे. 80, 90, 100 वास्तव में बहुत कम स्कोर है। यदि स्पिनर्स की अच्छी लाइन-अप है तो आप विपक्षी टीम के लिए बड़ी परेशानी पैदा कर सकते हैं.’

Tags:
COMMENT