शादी समारोह में नकदी और जेवर होते ही है. अनजान लोग और हडबडी भरा महौल भी रहता है. यह चोरी के लिये सबसे मुफीद होता है. ऐसे में चोरो की नजर अपने शिकार पर होती है. सावधान रह कर ही ऐसी घटनाओं से बचा जा सकता है.लखनऊ के गुडम्बा थाना क्षेत्र स्थित आशीर्वाद पैलेस में शादी का समारोह चल रहा था. औरेया जिले के रहने वाले राम नरेश दुबे के छोटे बेटे राज की शादी लखनऊ में  रहने वाली लडकी नेहा से तय हुई थी. रात का करीब 10 बजकर 30 मिनट हुआ था. द्वारचार का कार्यक्रम हो चुका था और जयमाल सम्पन्न हो रहा था. लोग घर वालों के साथ फोटो खिचवाने के लिये तैयार हो रहे थे. दुल्हे के पिता राम नरेश जेवर से भरा बैग दुल्हन के पीछे कुर्सी के पास रख दिया. वहां पर परिवार की दूसरी तमाम औरतें भी बैठी थी. एक 12-13 साल का लडका वहीं आकर बैठ गया. बच्चा होने के कारण किसी का ध्यान उस तरफ नहीं गया.

Tags:
COMMENT