गैर-सरकारी स्वयंसेवी संस्थाएं यानी एनजीओ देश में लाखों की संख्या में मौजूद हैं. आम आदमी की धारणा यह है कि एनजीओ बहुत रुपया कमा रहे हैं. इसी के चलते एनजीओ को बनाने व स्थापित करने के लिए अंधीदौड़ शुरू हो गई है. स्वयंसेवी संस्थाएं बहुत अच्छा काम कर रही हैं, लेकिन इन संस्थाओं को मूर्ख बनाने वाली कई छोटीबड़ी संस्थाएं भी इन दिनों बाजार में उतर चुकी हैं.

Tags:
COMMENT