उत्तर प्रदेश के कानपूर जिले में सरकार द्वारा चलाए बालिका शेल्टर होम में 57 नाबालिक लड़कियों के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है. इसमें चौकाने वाली खबर यह है कि इनमें से 5 नाबालिक लड़कियां गर्भवती पाई गई हैं. इसके अलावा 2 और नाबालिक लडकियां जिनकी कारोना रिपोर्ट नेगेटिव आई किन्तु टेस्ट कराने पर पता चला है कि वह भी गर्भवती हैं.

यह मामला कानपुर के राजकीय बालिका संवासिनी गृह का है. जिसमें 57 लड़कियां संक्रमित मिली हैं. जिसमें कुल 7 गर्भवती, 1 एचआईवी पॉजिटिव तथा 1 में के हैपेटाईटिस सी होने की पुष्टि हुई है. इस मामले को देखते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने हाईलेवल की जांच करवाने की मांग की है. वहीँ, मामले का पता लगने के बाद मुख्यमंत्री ने इस पर संज्ञान लिया है और जिला प्रशासन हरकत में आया है. हांलाकि जिला प्रशासन का कहना है कि यह लडकियां यहां लाए जाने से पहले ही गर्भवती थीं.

यह मामला तब संज्ञान में आया जब इनमें से एक लड़की को कोरोना के लक्षण दिखाई दिए थे. लड़की को सांस लेने में दिक्कत और फ्लू के लक्षण दिखने लगे थे. जिसके बाद उसका कोरोना टेस्ट किया गया और लड़की कोरोना पॉजिटिव निकली. इसके बाद 33 लड़कियों का कोरोना टेस्ट किया गया. जिसमें वे भी कोरोना संक्रमित पाई गईं. अभी कोरोना पॉजिटिव कुल 57 लड़कियों में पाया जा चुका है. घटना के बाद पूरा बालिका गृह सील किया जा चुका है. जिसमें अन्य लड़कियों और कर्मचारियों को बाकी अलग जगह पर क्वारिनटाईन किया गया है. जिनके ऊपर निगरानी रखी जा रही है. वहीँ पुरे बालिका गृह को सेनेटाईज किया गया है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT