सवाल
मेरे हाथ बहुत रूखे रहते हैं. किसी से हाथ मिलाने पर मुझे शर्मिंदगी का एहसास होता है. मैं ऐसा क्या उपाय करूं कि मेरे हाथ मुलायम हो जाएं?

जवाब
हाथों में औयल ग्लैंड्स कम होती है, इसलिए हाथ विशेषकर बदलते मौसम में रूखे हो जाते हैं. घर के काम जैसे कपड़े, बरतन आदि धोते रहने से भी हाथों की स्किन खराब हो जाती है. ऐसे में हाथों को नियमित तौर पर ऐक्सफौलिएट और मौइश्चराइज करते रहना चाहिए. इस के अलावा 1 बड़ा चम्मच नीबू का रस व 1 छोटा चम्मच चीनी में थोड़ा सा पानी मिला कर पेस्ट बना लें.

इस मिश्रण का हाथों पर 5 मिनट लगाए रखें. फिर हाथों को कुनकुने पानी से साफ कर लें. इस के अलावा 1/3 कप ग्लिसरीन और 2/3 कप गुलाबजल को आपस में मिला कर इसे बोतल में भर कर फ्रिज में रख जब भी कोई काम करने के बाद हाथ रूखे लगें तो इस से उन की मसाज कर लें.

ये भी पढ़ें…

रूखी त्वचा को कहें बायबाय

सुंदर त्वचा का राज उस की सही देखभाल में ही छिपा है. मौसम में बदलाव का असर त्वचा पर पड़ता है. सर्दी के मौसम में नमी की कमी के कारण त्वचा रुखी, बेजान और गंदी हो जाती है. ऐसे में सर्दी का मौसम शुरू होने पर त्वचा की खास देखभाल करने के साथसाथ अपनी दिनचर्या को बदलने की भी जरूरत होती है.

विंटर स्किन केयर

यदि आप की त्वचा सामान्य से रूखी है, तो चेहरा साबुन व पानी से न धोएं. इन की जगह ऐलोवेरा युक्त क्लीजिंग जैल का उपयोग करें ताकि यह नमी संतुलन बनाए रखते हुए त्वचा को साफ कर सके. इसे त्वचा पर लगाएं और नम रुई से साफ करें.

तैलीय त्वचा के लिए तुलसी व नीम या चंदन क्लींजिंग लोशन युक्त फेस वाश का उपयोग करें. क्लीजिंग के बाद त्वचा को टोन करने के लिए गुलाबजल का प्रयोग करें. गीली रुई को इस में डुबो कर उस से त्वचा साफ करें.

गुलाबजल सब से अच्छा प्राकृतिक स्किन टोनर है और सभी प्रकार की त्वचा के लिए उचित है. रुखी त्वचा के पोषण के लिए रात के समय क्लीजिंग करें. यह त्वचा में नमी बनाए रखने में मदद करता है. चेहरे पर क्रीम लगाएं और 2-3 मिनट तक त्वचा की मालिश कर गीली रुई से साफ कर लें.

मौइश्चराइजर लगा कर त्वचा को सुरक्षित किया जा सकता है. यदि आप दिन में बाहर निकलती हैं, तो सनस्क्रीन लगाएं. सूर्य की किरणें त्वचा से नमी सोख लेती हैं. यदि त्वचा तैलीय है तो सनस्क्रीन जैल का उपयोग करें. तैलीय त्वचा पर अधिक क्रीम लगाने से बचें, क्योंकि क्रीम से रोम छिद्र बंद हो जाते हैं, जिस से मुंहासे हो जाते हैं.

फेशियल मास्क भी त्वचा पर नियमित रूप से लगाएं. 2 छोटे चम्मच चोकर, 1 चम्मच बादाम या जई का तेल और 1-1 चम्मच शहद, दही और गुलाबजल को मिला कर घर में ही मास्क बना सकती हैं. इस मिश्रण को सप्ताह में 2-3 बार त्वचा पर लगाएं. 20-30 मिनट लगा रहने के बाद चेहरे को धो लें.

चेहरे के अन्य भागों की देखभाल

सामान्य त्वचा की देखभाल के अलावा चेहरे के कुछ भागों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है. जैसे होंठों की त्वचा बहुत पतली होती है और इन में चिकनी ग्रंथियों की कमी होती है. यही कारण है कि होंठ रुखे हो जाते हैं और विशेषरूप से सर्दी के मौसम में इन में दरारे पड़ जाती हैं.

चेहरा धोने के बाद मृत त्वचा को हटाने के लिए नर्म तौलिए से धीरेधीरे होंठों को रगड़ें. रोज होंठों पर दूध (मलाई) क्रीम लगाएं. 1 घंटा लगा रहने के बाद धो लें. यदि होंठ काले हैं तो दूध की क्रीम में नीबू के रस की कुछ बूंदें मिलाएं. रात में होंठों पर रोजाना शुद्ध बादाम तेल या बादाम क्रीम लगाएं और पूरी रात लगी रहने दें. मैट लिपस्टिक लगाने से बचें.

रुखे पैर और फटी एडि़यों को अधिक देखभाल की जरूरत होती है. अत: रात में सोने से पहले लगभग 20 मिनट तक गरम पानी में पैरों को भिगोएं. उन्हें भिगोने से पहले पानी में थोड़ा मोटा नमक और शैंपू मिलाएं. गरम पानी एडि़यों की मृत त्वचा को नर्म करता है. हील स्क्रबर की मदद से मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए धीरेधीरे एडि़यों को रगड़ें. मैटल के स्क्रबर से बचें.

पैरों को धोने के बाद अच्छी क्रीम से एडि़यों की मालिश करें. मौइश्चराइजिंग क्रीम या वैसलीन एडि़यों पर लगाएं. जालीदार कपड़ा या सूती ऊन और सर्जिकल गेज एडि़यों पर बांधें और सूती मोजे पहनें. फिर सो जाएं. ऐसा करने पर क्रीम एडि़यों पर लगी रहेगी और बिस्तर पर नहीं लगेगी. एडि़यों पर पूरी रात लगी क्रीम उन की त्वचा को नर्म बनाती है.

 

Tags:
COMMENT