सवाल

कुछ समय पहले मेरी एक बहुत ही करीबी 34 वर्षीया दीदी ने आत्महत्या कर ली. उन दीदी की मौत को 2 महीने ही हुए, उन के पति ने उन का सोशल अकाउंट हैंडल करना शुरू कर दिया है. कुछ दिनों से वे लगातार व्हाट्सऐप पर उन दीदी की पुरानी तसवीरें और ‘तुम क्यों चली गईं’ जैसी चीजें डाल रहे हैं. मुझे समझ नहीं आता यह उन के पति का अपनी पत्नी, जो अब इस दुनिया में नहीं है, के लिए प्यार है या सोशल मीडिया पर उन की मौत का तमाशा बनाने की असंवेदनशीलता. लोग ऐसे क्यों होते जा रहे हैं?

‘तुम क्यों चली गईं’ जैसी चीजें सोशल मीडिया पर डाल रहे हैं. मुझे समझ नहीं आता यह उनके पति का  प्यार है या सोशल मीडिया पर उन की मौत का तमाशा बनाने की असंवेदनशीलता. लोग ऐसे क्यों होते जा रहे हैं?

ये भी पढ़ें- बच्चे ढंग से बात नहीं करना चाहते, मैं क्या करूं?

जवाब

वर्तमान समय में लोगों की इतनी असंवेदनशील प्रतिक्रियाएं देख कर यकीनन दुख होता है. लोगों को समझने की जरूरत है कि किसी के लिए प्रेम दिखाने और जताने में फर्क होता है. जो व्यक्ति अब इस दुनिया में है ही नहीं वह क्या आ कर यह देखेगा कि आप ने उन के लिए क्या लिखा है या क्या पोस्ट किया है? बिलकुल नहीं. तो फिर इन तर्कहीन चीजों से होने वाला क्या है.

कुछ लोग ऐसे होते हैं जो सहानुभूति चाहते हैं पर सोशल मीडिया में इस तरह से तमाशा बनाना कहीं से भी तर्कसंगत नहीं लगता. ऐसे मैसेज या फोटो को इग्नोर करने की जरूरत है. लेकिन यदि वे ऐसा कर रहे हैं तो हो सकता है इन को पत्नी के बिछुड़ जाने का सदमा लगा हो. आप को सब से पहले उन्हें किसी मनोचिकित्सक के पास ले जाना चाहिए. यदि इस तरह की घटना घटित हो जाए तो खुद ऐसा कुछ कभी न करें और अपने घरपरिवार को भी ऐसा न करने की हिदायतें दें.

ये भी पढ़ें- मैं एक लड़की से प्यार करता हूं जब मैंने शादी का प्रस्ताव रखा तो उस ने मेरा मजाक बनाया, क्या करूं?

Tags:
COMMENT