सवाल

मेरी आयु 38 वर्ष है और मैं एक प्रतिष्ठित सरकारी पद पर कार्यरत हूं. मेरा एक 8 वर्षीय बेटा है. पति के देहांत के बाद जीने का और कोई सहारा नहीं है. मेरे रिश्तेदार मुझे पुनर्विवाह करने की सलाह देते हैं. दूसरा, सास की बिना घर का बंटवारा किए ही मृत्यु हो गई. ससुर मेरे दिए जेवर मुझे वापस नहीं लौटाते, जो मैं ने शादी होने के बाद उन्हें सुरक्षित रखने के लिए दिए थे. वे और मेरे एक जेठ भी इसी घर में रहते हैं. क्या पुनर्विवाह करने के बाद मैं इस घर से अपना हिस्सा पा सकूंगी?

ये भी पढ़ें- पति बातबात पर गुस्सा करते हैं, मैं क्या करूं?

जवाब

आप की उम्र अभी छोटी है और ऊपर से बेटे की जिम्मेदारी, जो भले ही आप अच्छी नौकरी करते हुए बखूबी निभा सकती हैं, लेकिन फिर भी जीवन में हमसफर की जरूरत पड़ती ही है. इसलिए अगर आप को ऐसा जीवनसाथी मिलता है जो आप के साथसाथ आप के बेटे को भी अपना बनाने के लिए तैयार हो तो ऐसे इंसान से विवाह करने में कोई हर्ज नहीं. रही बात जेवरों व घर में आप के हिस्से की, तो इस के लिए आप को जद्दोजेहद तो करनी ही पड़ेगी. इसलिए मन को पक्का कर ठोस निर्णय लें और जिस से शादी करें, उसे पहले ही पूरी स्थिति से अवगत करा दें, ताकि बाद में कोई दिक्कत न हो.

ये भी पढ़ें- तलाक के सिवा कोई औप्शन नहीं बचा, क्या मैं उसे तलाक दे सकता हूं?

 

Tags:
COMMENT