साल 2016 ख़त्म होने को था, देश के सबसे बड़े राज्य उत्तरप्रदेश को फतेह करने के लिए चुनाव प्रचार जोरों पर था. भाजपा लीड में लग रही थी. प्रधानमंत्री मोदीजी की सूबे में धडाधड रैलियां चल रही थी. 11 दिसंबर आया, मोदीजी की बहराइच में परिवर्तन रैली थी. खराब मौसम के कारण मोदीजी का चोपर लैंड नहीं कर पाया लेकिन जो भाषण कहने की वे ठान के आए थे उसे जरूर कहा. बस विधा बदली और अपना भाषण मोबाइल से दे दिया.

Tags:
COMMENT