चुनावों में जीत के लिए नेताओं द्वारा तरहतरह के धार्मिक हथकंडे अपनाए जा रहे हैं. जाति, धर्म, वर्ग विशेष के लोगों को लुभाने के वादे तो हैं ही, धार्मिक स्थलों और धर्मगुरुओं के मठों, आश्रमों और मंदिरों की परिक्रमा के ढोंग भी खूब देखे जा रहे हैं.

आंध्रप्रदेश से अलग हो कर अस्तित्व में आए नए राज्य तेलंगाना के मुख्यमंत्री एवं तेलंगाना राष्ट्र समिति के मुखिया कल्वाकुंतला चंद्रशेखर राव का धर्म प्रेम जगजाहिर है. राज्यों के मुख्यमंत्रियों में तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव धार्मिक कर्मकांड कराने वाले नेताओं में सब से अग्रणी माने जाते हैं. वह सरकारी खर्च पर कभी प्रदेश की तरक्की के लिए तो कभी सुखशांति के लिए हवनयज्ञ कराने के लिए खबरों में रहते हैं.

Tags:
COMMENT