कांग्रेस ने भले ही उत्तर प्रदेश के लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी से गंठबंधन ना किया हो पर टिक के बंटवारे में इस बात का पूरा ध्यान रखा जायेगा कि किस तरह से वोट का बिखराव रोक कर भाजपा का विरोध करने वाले दलों के ज्यादा से ज्यादा प्रत्याशी चुनाव जीत जाये. जहां सपा-बसपा ने कांग्रेस के लिये केवल दो सीटें छोडी थी वहीं कांग्रेस ने बडा दिल दिखाते हुये सपा-बसपा के लिये लोकसभा की 7 सीटें छोड दी है.

Tags:
COMMENT