कोरोना की दूसरी लहरसे देश में हाहाकार मचा हुआ है, हर दिन सैकड़ों मोतें सरकारी पन्नों में दर्ज हो रही हैं तो कई हजारोंअनामअसमय शमशान घाटों में जलाई जा रही हैंऔर जिन्हें यहां जगह नहीं मिली उन्हें ‘मां’ गंगा में बहाया जा रहा है. तभी तो उत्तर प्रदेश से गंगा में बहते 71 से ऊपर लाशें सीधे बिहार जा पहुंची और देश के “सिस्टम” का दरवाजा खटखटा कर पूछ बैठी कि ‘क्या अभी भी सब चंगा सी?’

Tags:
COMMENT