देश और सरकार उपदेशों व प्रवचनों के बजाय वैज्ञानिक व तकनीकी राह अपनाते तो कोरोना के हालात भयावह न होते. कुंभ और रैलियों ने कोरोना का कहर इतना बढ़ा दिया कि जगहजगह लाशों के अंबार लग गए जैसे महाभारत के युद्ध के बाद लगे थे. लड़ाई तब भी सत्ता की थी और आज भी है. महाभारत इकलौता धर्मग्रंथ है जिसे हिंदू घर में नहीं रखते. माना यह जाता है कि जिस घर में महाभारत की किताब रखी होगी उस में कलह जरूर होगी. यह पूरी किताब ही सब से बड़े राजनीतिक युद्ध की वजह से ही वेद व्यास ने लिखी जिस के कर्णधार, सूत्रधार और नायक कृष्ण हैं.

Tags:
COMMENT