बात हेमामलिनी या स्मृति ईरानी जैसी कट्टर भाजपाई अभिनेत्रियों की होती तो तय है कि भाजपाई अब तक आसमान सर पर उठा चुके होते लेकिन बात चूंकि जयाप्रदा की है इसलिए भगवा खेमे को कोई खास सरोकार उनकी बेइज्जती से नहीं है जो सपा छोड़कर भाजपा में आईं हैं. आईं भी क्या हैं अमर सिंह द्वारा लाई गईं हैं. उन्होंने आरएसएस के एक आनुशांगिक संगठन को 12 करोड़ की अपनी पैतृक संपत्ति दान देकर रामपुर से उनके लिए भाजपा का टिकट खरीदा है.

Tags:
COMMENT