“वक्त रहता नहीं कहीं टिक कर, इसकी आदत भी आदमी सी है. "गीतकार गुलजार की गजल की यह पंक्तियां  2019 पर बहुत सटीक बैठती है. इस साल कई राजनेता, पूर्व मंत्री  एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री  हम लोगों के बीच से सदा के लिए इस दुनिया को अलविदा कह कर चले गये.  तो चलिए याद करते हैं, उन सभी शक्सियत को एक साथ...

* अरुण जेटली : देश के पूर्व वित्त मंत्री और भाजपा के कद्दावर नेता नेता अरुण जेटली का निधन 24 अगस्त 2019 को हुआ. वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे. अरुण जेटली का निधन हो गया है. खराब स्वास्थ्य के कारण अरुण जेटली ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में कोई पद न संभालने की इच्छा जाहिर करते हुए एक तरह से राजनीति से संन्यास ले लिया था. अरुण जेटली दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ डीडीसीए के अध्यक्ष भी रहे. सरकार ने यह हल में ही घोषणा किया है कि  दिल्ली का फिरोजशाह कोटला स्टेडियम अब पूर्व वित्त मंत्री  के नाम से जाना जाएगा.

* सुषमा स्वराज :  भाजपा की नेत्री सुषमा स्वराज जिनके दमदार भाषण का हर कोई प्रशंसक था. 6 अगस्त 2019 को हमेशा के लिए खामोश हो गई.   कुशल वक्ता  पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज का निधन हार्ट अटैक से हुआ था . विदेश मंत्री के तौर पर उनका कार्यकाल आज भी हर कोई याद करता है. उन्होंने विदेशों में फंसे कई ऐसे लोगों को स्वदेश लाया, जिन्होंने सोशल मीडिया पर उनसे अपील की थी.

ये भी पढ़ें- अलविदा 2019 : जानें, राजनीतिक गलियारों में क्यों खास रहा यह साल

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT