हिमाचल प्रदेश की महिला नेता के बाथरूम का बना वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो उनको इसका खामियाजा भुगतना पड़ा. पार्टी ने उनको बाहर का रास्ता दिखा दिया. इसके अलावा समाज में उनकी बदनामी अलग से हुई. पूरे वीडियो को देखने के बाद साफ लगता है कि यह वीडियो दोनो की मर्जी से बना था और उनका कोई गलत उद्देश्य भी नहीं था. ना कोई एक दूसरे को ब्लैकमेल करने के इरादे से इसको बना ही रहा था. अचानक सोशल मीडिया पर इसके आने से यह वीडियो उनके लिये हर तरह से नुकसान दायक साबित हो रहा है. यह कोई पहला मामला नहीं है. जिसमें अंतरंग पलों के बने फोटो और वीडियो गले की हड्डी बन गये.

Tags:
COMMENT