अक्सर ऐसा होता है कि लड़कियां घर से बाहर रहती हैं जौब के लिए या पढ़ाई के लिए….कोई फ्लैट लेकर रहता है तो कोई हौस्टल में तो कोई पीजी में,जहां उन्हें कोई न कोई लड़की जरूर ऐसी मिलती है जो उनके साथ रूम को शेयर करती है. और ऐसा करना पड़ता है क्योंकि सभी जानते हैं कि बाहर अकेले रहना परिवार से दूर कितना मुश्किल है.शायद इसी कारण से ऐसी व्यवस्था ने जन्म लिया है….एक लड़की जब घर से दूर बाहर अकेले रहती है तो कुछ परेशानियां भी आती हैं लेकिन ऐसे में अगर कोई उसका साथ देने वाला हो तो उसे वो परेशानियां उठाने में ज्यादा दिक्कत नहीं होती है.हां ये बात लाज़मी है कि हमेंशा कोई अच्छा रूम पार्टनर मिले ये जरूरी नहीं है लेकिन अब ये आपको तय करना होगा कि आप अपनी रूम पार्टनर से कितना अच्छा रिश्ता बना कर रखती हैं क्योंकि भले ही आपके उस शहर में कितने ही दोस्त बन जाए लेकिन जब आप रूम में होती हैं कभी बीमार पड़ती हैं…कभी किसी बात से आप परेशान होती हैं, कभी घर वालों की याद आती है तो ऐसे में उस वक्त आपके पास सिर्फ एक इंसान होता है जो आपको संभाल सकता है और आपका साथ दे सकता है. आप बीमार हैं तो आपका ध्यान भी रख सकता है..वो आपका रूम पार्टनर ही होता है.

अब आप खुद भी अगर उसके साथ वैसा ही व्यवहार रखेंगी तभी आपको भी उसकी तरफ से वैसा ही प्यार, सानिध्य, अपनापन और व्यवहार मिलेगा. क्योंकि वहां हमारा परिवार नहीं होता और ना ही उस वक्त तुरन्त कोई दोस्त आपकी मदद के लिए आ पाते हैं सिर्फ आपकी रूम पार्टनर ही होती है जो बाहर आपका सुख-दुख बांटती है और साथ ही आपकी मदद भी करती है.  इसलिए एक अच्छा रूम पार्टनर होना जिंदगी में बहुत ही जरूरी है.

ये भी पढ़ें- पिता को भी बनना चाहिए बेटियों का दोस्त

अगर आप कौलेज में हैं और कोई पढ़ाई में आपको मदद चाहिए तो ऐसे में आपकी रूम पार्टनर आपकी मदद कर सकती है. आप औफिस में जौब करती हैं तो आप कभी-कभी फ्रस्टेट हो जाती हैं… वर्क लोड से परेशान हो जाती हैं तो ऐसे में आप औफिस में तो फ्रस्टेशन उतारेंगी नहीं तो आप रूम आकर अपनी रूम पार्टनर से अपनी बातें शेयर कर सकती हैं. वो आपको सलाह भी देगी कि तुम्हें क्या करना चाहिए साथ ही आपका साथ भी देगी. लेकिन फिर वही बात कि आप अपना रिश्ता अपनी रूम पार्टनर से कितना अच्छा बना कर रखती हैं ये उसपर डिपेन्ड करता है. और कभी-कभी आप रूम में रहकर एक-दूसरे से अपनी गौसिप्स भी शेयर कर सकती हैं जैसा कि अमूमन हर लड़की की आदत होती है…इसमें तो कोई शक नहीं है.

ये भी पढ़ें- अगर आप सास बनने जा रही हैं तो पढ़ें ये खबर

आपने क्या खाया क्या नहीं खाया इस बात का ध्यान भी रूम पार्टनर रखती हैं… रूम मेट होने के नाते कुछ टाइम बाद आप दोनों ही एक-दूसरे का खयाल रखने लगती हैं.ऐसा होना जरूरी भी है क्योंकि वहां पर आपका परिवार मौजूद नहीं होता जो हर वक्त आपके साथ हो. ये छोटी सी जिंदगी में मस्ती भरी कुछ यादें होती हैं…  जब आप अपनी जिंदगी में आगे बढ़ जाते हैं तो वही बातें जो आपने अपनी रूम मेट के साथ मस्ती के साथ बिताए होते हैं वो यादें सब याद आती हैं. औऱ हम अपने उस वक्त के दोस्तों से या अपने लाइफ पार्टनर से शेयर करते हैं कि जब हम हौस्टल में थे ऐसा किया करते थें. और शायद इसलिए ही एक अच्छी रूम पार्टनर पहुत जरूरी है.

Tags:
COMMENT