गंदगी और जगह-जगह पानी इकट्ठा रहने की वजह से इस मौसम में मच्‍छर ज्‍यादा होते हैं. जिससे आपको और आपके छोटे बच्‍चे को कई बीमारियां हो सकती हैं. क्‍योंकि छोटे बच्‍चों का इम्‍यून सिस्‍टम कमजोर होता है और उन्‍हें बीमारी होने की आशंका ज्‍यादा होती है. ऐसे में जरूरी है की आप अपने छोटे बच्‍चे की सेहत का विशेष ध्‍यान दें और मच्‍छरों से बचने के लिए कुछ उपाय अपनाएं.

 मच्‍छरों के काटने से होने वाली बिमारियां

मलेरिया, चिकनगुनियां, पीलिया और डेंगू कुछ जैसी खतरनाक बीमारियों है जो मच्छरो के काटने से होती है.

ये भी पढ़ें- क्या आप भी उंगली से लिप बाम लगाते हैं?

नेचुरल रेपलेंट का करे इस्तेमाल

आप अपने घर में केमिकल वाले मौस्‍क्‍यूटो रेपलेंट की जगह नेचुरल रेपलेंट का इस्‍तेमाल करे ताकि वो आपके स्वास्थ के लिए हानिकारक ना हो.

चलिये जानते वो कौन सी 6 चीजों की महक जो मच्‍छरों को आप से से दूर रखेंगी-

1.लहसुन और पुदीना

लहसुन खाने के स्वाद को तो बढ़ाता ही है लेकिन इसकी गंध मच्‍छरों को दूर रखने के एक रामबाण तरीका है. लहसुन की एक कली या लौंग खाने से खून चूसने वाले इन मच्‍छरों से बचा जा सकता है. लहसुन की गंध मच्‍छरों को घर के अंदर आने से रोकती है. लहसुन की कुछ कलियों को पीसकर पानी में उबाल लें और फिर इसका छिड़काव आप पूरे घर में कर लें. ऐसा करने से मच्‍छर आपके घर में नहीं घुस पायेंगे और आपके बच्‍चों को मच्‍छरों के काटने से बचा सकेंगे.

ये भी पढ़ें-  रिश्तों में सहनिर्भरता : अलगाव का संकेत

2.तुलसी

आयुर्वेद के अनुसार तुलसी इतनी फायदेमंद है, कि इसका पौधा खिड़की या दरवाजे के पास रखने से मच्‍छरों को दूर भगाया जा सकता है.  तुलसी का पौधा मच्‍छर के लार्वा को नष्‍ट करने का प्रभावी माध्‍यम है. यह मच्‍छरों को आपके बच्‍चों से दूर रखने का बेहतर उपाय है. आप अपने या बच्‍चे के शरीर पर तुलसी का रस लगा सकते है या फिर कमरे में चारों तरफ इसका स्‍प्रे कर सकते हैं. इससे मच्‍छर आपसे दूर रहेंगे.

3.लेमनग्रास और नींबू

 कई बार बीमारियों का उपचार और बचाव के विकल्‍प आपके आस-पास होता है. लेकिन जानकारी न होने के कारण आप उनका इस्‍तेमाल नहीं कर पाते. इन्‍हीं विकल्‍पों में से एक है लेमनग्रास. इसके इस्‍तेमाल से मच्‍छरों को दूर भगाया जा सकता है. लेमनग्रास का इस्‍तेमाल लेमन टी के तौर पर किया जाता है. एक्‍सपर्ट के अनुसार यदि आपके घर के गमले या लौन में लेमन ग्रास का पौधा है, तो उसकी महक से मच्‍छर आपके आस-पास नहीं भटकते. यह पौधा मलेरिया और डेंगू जैसी बीमारियों से बचाने में भी हेल्प करता है.

ये भी पढ़ें- 6 टिप्स: इन तरीको से रखे पेट दर्द को दूर…

4.नीम और नारियल तेल

नीम स्‍वास्‍थ्‍य व शरीर के लिए बहुत गुणकारी है. स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक होने के साथ यह आपको और आपके बच्‍चो को मच्‍छरों के आंतक से भी बचाने में मदद करेगा. नीम के तेल को शरीर पर लगाने से मच्‍छर आपसे कोसों दूर रहते हैं. नीम के साथ नारियल तेल को मिला कर लगाने से करने से मच्‍छर आप तक नहीं पहुच पायेंगे. नारियल के तेल में नीम का तेल मिलाकर दीया जलाएं, इसकी महक से मच्‍छर आपके बच्‍चे से दूर रखेंगे. यह एक जीवाणुरोधी, एंटी फंगल, एंटी वायरस एजेंट होने के साथ आपकी त्‍वचा पर एक विशेष महक छोड़ता है, जो मच्‍छरों को दूर रखता है.

ये भी पढ़ें-  गरमियों के मौसम में बाहर के खाने से बचें…

5.लवेंडर फूल व टी ट्री औयल

लवेंडर के फूल खुशबूदार होने के साथ-साथ आपको मच्‍छरों से बचाने का भी एक अच्‍छा तरीका है. आप इस फूल की महक से मच्‍छरों को असमर्थ बना सकते हैं. इसके लिए आप लवेंडर के तेल को कमरे में रूम फ्रेशनर की तरह छिड़कें, इससे मच्‍छर कमरे में प्रवेश नहीं कर पाएंगे.

6.पुदीना

पुदीना मच्‍छरों को दूर रखने के लिए बहुत उपयोगी है. पुदीने का तेल किसी भी कीटनाशक के जितना प्रभावी है. आप पुदीने का तेल अपने बच्‍चे के या खुद के शरीर पर लगा सकते हैं, यह मच्‍छरों को बच्‍चे से दूर रखेगा. इसके अलावा आप अपने कमरे की खिड़की या दरवाजे के पास पुदीने का पौधा लगा सकते हैं या पुदीने के पत्‍तों के रस का छिड़काव कर भी कर सकते हैं.

Tags:
COMMENT