पोस्टमास्टर होते हुए मेरे पापा ने मुझे इंजीनियर बनाया. पापा का हर काम समय  पर होता था. अपने पापा से मैं ने अनुशासन सीखा. पापा कहते थे, बड़े बनने से अधिक महत्त्वपूर्ण है एक अच्छा इंसान होना.

पापा से मिले अनमोल ज्ञान का सदुपयोग कर के ही मैं अपनी इकलौती बेटी को भी सर्वगुण बना सका. पापा की दी हुई सीख और उन की शिक्षा को विद्यालयों में विद्यार्थियों के साथ बाटूंगा एवं पापा की स्मृति में निर्धन, मेधावी बेटियों की उच्च शिक्षा हेतु आय का 5 प्रतिशत अंश आर्थिक सहायता के रूप में दे कर मातृभूमि की सेवा करता रहूंगा.

दिलीप भाटिया, भाटा (राजस्थान)

  • हमारे पापा का पूरे शहर में बड़ा दबदबा था. सभी उन से डरते थे और केवल काम की ही बात करते थे, उन से दूरी बनाए रखते थे. हमारे पापाजी की मृत्यु 75 वर्ष की उम्र में वर्ष 2000 में हो गई. मैं ने अपने जीवन में कभी उन्हें बीमार होते नहीं देखा था. 5-10 किलोमीटर पैदल चलना तो उन के लिए सामान्य बात थी. हमारा ठेकेदारी का व्यवसाय था. पापाजी शहर के नामी ठेकेदारों में जाने जाते थे. मैं भी उन के साथ ठेकेदारी करता था, लेकिन मुझे उन का अंदाज बिलकुल पसंद नहीं था, क्योंकि वह दादागीरी से काम करते थे.वह सामाजिक कार्यकर्ता भी थे जबकि मैं बिलकुल उन के विपरीत लोगों से मिलजुल कर अधिकारियों व कर्मचारियों को रिश्वत दे कर काम कराने में विश्वास रखता था. मैं उन्हें बैड मेन माना करता था लेकिन जब उन की मृत्यु हुई तब दूरदूर से लोग मिलने आए और उन्होंने बताया कि आप के पापाजी ने हमारी नौकरी लगवाई थी. किसी को अस्पताल में तो किसी को पुलिस में नौकरी दिलवाई.

वे कहते थे कि उन लोगों का जीवन पापा की वजह से संवरा है. पापा ने उन का एक रुपया भी खर्च नहीं होने दिया.हमारे पापाजी कहते थे कि मजदूर का पसीना सूखने से पहले मजदूर का पैसा उसे मिल जाना चाहिए.जब मुझे उन की इस अच्छाई के बारे में पता चला तब मुझे बड़ा गर्व महसूस हुआ कि आज लोग नौकरी लगवाने के बदले रुपए लेते हैं. मुझे गर्व महसूस होता है कि पापा ने हमें सुरक्षा प्रदान की व हमेशा अच्छेबुरे लोगों के बीच फर्क महसूस करना सिखाया.उन्होंने हमेशा गरीबों के हक के लिए लड़ाई लड़ी. लोग सही कहते हैं कि लोग याद आते हैं जाने के बाद.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT