अगर आपका भी परिवार आपको जल्दी बच्चा करने के लिए दबाव डालता है तो हो जाए सावधान क्योंकि ऐसी बहुत सी दिक्कतें और असुविधाएं होती हैं जिसके कारण आप भी परेशान रहती हैं और साथ ही मानसिक तनाव भी बढ़ता है जो आपकी सेहत के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है.अक्सर जब किसी की शादी होती है तब उस लड़की की बहुत सी ख्वाहिशें होती हैं जिनके वो पूरा करना चाहती है.लेकिन फिर जब उसपर बच्चे के लिए दबाव बनाया जाता है तो वो बात मान जाती है.जिससे बहुत उसे बहुत सी परेशानियां उठानी पड़ती हैं.

  • सबसे पहला कारण घर के बड़े बुजुर्ग, अगर उनकी उम्र ज्यादा होती है तो सोचते हैं की पोते का तो मुंह देख लिया अब मरने से पहले परपोते का मुंह भी देख लूं इसलिए यहां पर भी लड़की पर फैमिली प्रेशर डाला जाता है और उसे न चाहते हुए भी बच्चे को जन्म देना पड़ता है. जिसके कारण वो उसकी देखभाल भी सही से नहीं कर पाती क्योंकि वो बच्चे के लिए तैयार ही नहीं रहती है.

ये भी पढ़ें- बच्चों को रोज सुनाएं कहानी

  • अगर बच्चा जल्दी हो जाता है तो फिर वो अपने पार्टनर को भी ज्यादा समय नहीं दे पाती क्योंकि जब इंसान शादी करता है तो उसकी कुछ जरुरतें होती हैं जो पूरी करना चाहता हैं वो या चाहती है लेकिन जल्दी बच्चा होने से वो इन सब से दूर होने लगती है ना ही पति को ज्यादा प्यार दे पाती है और ना ही समय जिसके कारण दोनों के ही मन में मन-मुटाव हो जाता है और दूरियां भी काफी हो जाती है इसलिए प्राइवेट लाइफ बहुत जरूरी है शादी के बाद.
  • अगर पति और पत्नी दोनों ही बच्चे के लिए रेडी नहीं होते हैं. उन्हें लगता हैं कि अभी उस बच्चे की जिम्मेदारी नहीं उठा सकते हैं लेकिन फिर भी बच्चा हो जाए तो उसकी देखभाल करना दोनों के लिए ही दिक्कत हो जाती है.क्योंकि बच्चे को संभालना उसकी देखभाल करना इतना आसान नहीं होता उसकी परवरिश करना पढ़ाना-लिखाना सारी चीजें देखनी पड़ती हैं और अगर इतना बैंक बैलेंस नहीं है व्यक्ति के पास तो दिक्कतें होनी ही हैं.

ये भी पढ़ें- मां बेटी का रिश्ता है सबसे खास

  • कभी-कभी शादी कम उम्र में हो जाती है और फिर बच्चें भी जल्दी हो जाते हैं तो इसका असर शरीर पर भी पड़ता है और आप शारीरिक रूप से बहुत कमजोर भी हो जाती हैं क्योंकि उस वक्त तो आप खुद को भी नहीं संभाल पाती तो ऐसे में बच्चें की जिम्मेदारी कहां से संभालेंगी.

इसलिए जब भी आपको लगे कि आप बच्चे की जिम्मेदारी संभालने के लिए तैयार हैं उसकी परवरिश अच्छे से कर सकती हैं तभी बच्चे तो जन्म दें.कभी भी परिवार के दबाव में आकर बच्चे पैदा न करें.अपनी प्राइवेट लाइफ को शादी के बाद कम-से-कम तीन साल तो आपको देना ही चाहिए हर कपल की ख्वाहिश होती हैं कि उसका पार्टनर उसको समय दें इसलिए इस बात का हमेशा ध्यान रखें.जब आपको लगे कि आपने अपने भविष्य को सुरक्षित बना लिया और बच्चे को अच्छे से पढ़ा-लिखा सकते हैं तभी बच्चे के बारे में सोचें.

ये भी पढ़ें- रिश्ते में न रखें ये उम्मीदें वरना टूट सकता है आपका रिश्ता

Tags:
COMMENT