बहुत सारी जागरूकता के बाद भी गर्भपात शादीशुदा महिलाओं मौत का कारण बनता है. आंकड़े बताते है कि कुल  मौतों में 8 से 10 फीसदी मौतें असुरक्षित गर्भपात से होती है. परिवार नियोजन का सही प्रयोग न होने से शादीशुदा महिलाओं को गर्भपात के लिये जाना होता है. केवल उत्तर प्रदेश में हर साल 31 लाख गर्भपात होते है. 72 फीसदी महिलाओं को सुरक्षित गर्भपात की जानकारी नहीं होती है. केवल 23 प्रतिशत महिलाओं को ही सुरक्षित गर्भपात की जानकारी होती है. राष्ट्रीय स्तर पर देखे तो भारत में 56 प्रतिशत गर्भपात असुरक्षित स्थित में होते है. इस असुरक्षित गर्भपात के कारण 8 प्रतिशत मातृ मृत्यु होती है. असुरक्षित गर्भपात के कारण तमाम दूसरी बीमारियां भी महिलाओं को हो जाती है.

Digital Plans
Print + Digital Plans
Tags:
COMMENT