अधिकतर महिलाओं में चालीस की उम्र के बाद पीरियड के दौरान रक्तस्राव में बढ़ोत्तरी, कमर, पेड़ू और हाथपैरों में तेज़ दर्द की समस्या पैदा हो जाती है. कई बार मासिक चक्र अनियमित हो जाता है. पीरियड आने पर पेट में असहनीय दर्द होता है. पांच दिन की जगह आठ से दस दिन तक रक्तस्राव बना रहता है. शरीर में खून की कमी हो जाती है. कमजोरी और बुखार बना रहता है. यह सारे लक्षण फाइब्राइड के हैं. फाइब्राइड यानी गर्भाशय की गांठ या रसौली.

Tags:
COMMENT