जरा कल्पना करें कि आम, जामुन, नीम, बरगद, शीशम, इमली व पीपल जैसे पेड़ घर के ड्राइंगरूम में सजे नजर आएं तो कैसा लगेगा? यकीनन अच्छा लगेगा. बोनसाई के जरीए ऐसा मुमकिन हो सका है. विशाल पेड़ों की चोटी अब आप खड़ेखड़े छू सकते हैं. एक ऐसी तरकीब है, जिस से अपने मनपसंद पेड़पौधे घर में लगाना मुमकिन हो बोनवाई कहलाती है. बोनसाई के जरीए आप बड़े पेड़ों को छोटे रूप में अपने कमरे, बरामदे और बालकनी में लगा सकते हैं. किसी भी पौधे का बोनसाई विकसित किया जा सकता है. बोनसाई  में टहनियों की छंटाई, जड़ों को छोटा करना, गमले बदलना और पत्तियों को छांटने जैसी गतिविधयां एक तय समय पर की जाती हैं. बोनसाई पौधे उगाना कम खर्चीला और रोचक काम होता है.

Tags:
COMMENT