देशभर में शौचालयों का जम कर निर्माण हो रहा है और खुले में शौच को बंद कराने में सरकार जुटी है, पर सरकार शौचालयों के लिए जरूरी सीवर लाइनों और चालू पानी के पाइपों की ओर कोई ध्यान नहीं दे रही. यह साफ है कि नीति निर्धारक सोच रहे हैं कि शौचालयों को साफ करने के लिए दलित तो हैं ही.

COMMENT