धर्म का नशा इतना बड़ा है कि लोग अपनी जान की परवाह किए बिना हरिद्वार में हो रहे कुंभ में बिना कोविड टैस्ट करा पहुंच रहे हैं. वे खुद को भी बिमारी का निमंत्रण दे रहे हैं और अगर उन्हें नहीं है तो दूसरों से ले रहे हैं. भाजपा सरकार ने इस कुंभ को बंद करने का कोई आदेश नहीं दिया है.

यह धर्मांधता भारत में ही नहीं दुनिया भर में है. कितने ही देशों में चर्चों ने अपने दरवाजे पिछले फरवरी-मार्च से लगातार खुले रखे. जहां भी धर्म समर्थक सरकार थी वहां उन्होंने अनदेखा किया. कितने ही ईसाई पुजारी जो कहते रहे कि कोविड केवल पापियों को होगा, जीसस ईश्वर को भारत में आने वालों को नहीं होगा कोविड के चपेट में आकर अपनी मान्यता के अनुसार जीसस से मिलने पहुंच गए.

ये भी पढ़ें- संपादकीय

भारत में सभी मंदिरों के अघोषित मालिक राष्ट्रीय स्वयं सेवा संघ के सरसंघ चालक मोहन भागवत भी कोविड ग्रस्त हो चुके हैं. कितने ही भाजपा के मंत्री, मुख्यमंत्री कोविड से छटपटाते रहे पर फैसले लेते समय धर्म का धंधा उन पर छाया रहा. उन्होंने मंदिरा में भी जाना चालू रखा, घरों में हवन पूजाएं कराईं, चुनाव सभाओं में भाग लिया, अफसरों से मिले, कमाई के अवसर चालू रखे. हां भूल कर भी वे उन मजदूरों की ओर नहीं गए जो कोविड के डर के कारण पिछले साल पैदल चल कर घर पहुंचे और फिर वापस आए और अब दूसरी नहर में फिर लौट रहे हैं.

ये भी पढ़ें- संपादकीय

हरिद्वार के कुंभ के लिए पुलिस ने एतिहात के तौर पर जगहजगह पोस्ट लगा कर आरटी-पीसीओर रिपोर्ट चैक करना चालू रख रखा है पर तीर्थ यादि मुख्य मार्ग छोड़ कर खेतों, जंगलों, गांवों से उबडख़ाबड़ सडक़ों से जाने लगे हैं. वे गांवों की सडक़ों को तो नष्ट कर ही रहे हैं, बिना टैस्ट के जाने की वजह जहां रखेंगे वहां वायरस छोड़ सकते हैं. जो गांव किसी तरह से बच रहे थे वे गंगा मैया की कृपा से कोरोना ग्रस्त हो जाएं तो बड़ी बात नहीं.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...