एक मामले में एक युवा दलित लडक़ी की हत्या कर दी गई क्योंकि उसने एक लडक़े को ओरल सैक्स में सहयोग नहीं दिया और एक और मामले में 48 साल की मां की गोली मार कर हत्या कर दी गई क्योंकि उस ने अपनी बेटी के छेडऩे वालों से बचाने की कोशिश की. दोनों मामलों में पुलिस ने रस्मी कारवाई तो की है पर कहीं भगवा गैंग नहीं दिखा कि ङ्क्षहदू औरतें खतरे में हैं, संस्कृति नष्ट हो रही है, अनाचार बढ़ रहा है, देशद्रोही गलीगली में घूम रहे हैं.

Tags:
COMMENT