गृहयुद्धों में अलकायदा या उस टाइप के इसलामी जेहादी गुट जोरशोर से हमले कर रहे हैं. जैसा किसी भी युद्ध में होता है, सैनिकों को मोटा वेतन मिलता है, लूट मिलती है और औरतें मिलती हैं. इन गृहयुद्धों में बंदूक पकड़ने वालों को भी सब मिल रहा है और उलेमा मौलवियों के अनुसार, उन्हें जन्नत में जगह भी मिलेगी.

Tags:
COMMENT