जब से कोरोना वैश्विक महामारी  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित हुई है, तब से वे 3 बार राष्ट्र के नाम संदेश दे चुके हैं. जनता को प्रधानमंत्री से हर बार की तरह इस बार भी काफी उम्मीदें थीं कि वे गरीबों के लिए कोई राहत देंगे, लोगों के दुखदर्द कम करेंगे, आर्थिक तंगी से जूझ रही कंपनियों को उबारेंगे, कोरोना वायरस या लॉक डाउन से आई मंदी को ले कर कुछ कहेंगे, पर ऐसा नहीं हुआ.

Tags:
COMMENT