आमतौर पर किसी भी पार्टी के दूसरे और तीसरे दरजे के नेता पार्टी से निकाले जाने पर दुखी रहते हैं पर भाजपा के बड़बोले सांसद अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा का दर्द जरा उलट है कि पार्टी उन्हें बाहर ही नहीं निकाल रही. बस, इस आशय की धमकी दे कर छोड़ देती है. शत्रु के बारे में हर कोई जानता है कि वे कभी भी पार्टी की नीतियों और फैसलों का सार्वजनिक विरोध कर डालते हैं पर आलाकमान कोई कार्यवाही नहीं करता.

COMMENT