एक जिद के चलते सरकार ने खरबों रुपए खर्च करते थोक में शौचालय तो बनवा दिए पर नई दिक्कत यह उठ खड़ी हुई है कि इन में से अधिकांश का कोई उपयोग नहीं कर रहा. साफसफाई के अभाव और पानी की कमी के चलते ये मौड्यूलर संकरे शौचालय लोगों के लिए नया सिरदर्द बन गए हैं. इन शौचालयों का भविष्य या मुकाम साफ दिख रहा है कि कचरे के ढेर हैं.

COMMENT