स्व.राज कपूर ने चेंबूर इलाके में 1948 में ‘आर के फिल्मस’’ बैनर की स्थापना की थी.इस बैनर के तहत उन्होेने  कई फिल्मों का निर्माण,निर्देशन करने के साथ कुछ फिल्मों में अभिनय भी किया था.

‘‘आर के फिल्मस’’के बैनर तले पहली फिल्म‘‘आग’’थी,जिसमें राज कपूर और नरगिस की जोड़ी थी.उसके बाद ‘आवारा’,‘श्री 420’, ‘मेरा नाम जोकर’,‘बॉबी’,‘सत्यम शिवम सुंदरम’और ‘राम तेरी गंगा मैली’ जैसी कई फिल्में बन चुकी हैं.लेकिन 1988 में राज कपूर के निधन के बाद रणधीर कपूर ने ‘‘आर के फिल्म’’की कमान संभाली.और ‘हीना’,‘प्रेम ग्रंथ’ तथा ‘आ अब लौट चले’का निर्माण किया था.

ये भी पढ़ें- एक बार फिर साथ दिखेंगे बिग बॉस 13 फेम सिद्धार्थ शुक्ला, रश्मि देसाई और शहनाज गिल

1999 में ‘‘आर के फिल्मस’’ के बैनर तले अंतिम फिल्म ‘‘आ अब लौट चले’’का निर्माण हुआ था,जिसका निर्देशन रिषि कपूर ने किया था.जिसमें ऐश्वर्या राय बच्चन,अक्षय खन्ना और राजेश खन्ना मुख्य भूमिकाओं में थे.उसके बाद से ‘‘आर के फिल्मस’के बैनर तले कोई गतिविधि नहीं हुई.कुछ वर्षों पहले रणबीर कपूर ने जरुर कहा था कि वह अपने दादा स्व.राज कपूर के बैनर ‘‘आर के फिल्मस’’को पुनः जीवित करना चाहते हैं.मगर फिर वह आगे नही बढ़े.इतना ही नही वर्ष पहले पूरे परिवार ने निर्णय लेकर राज कपूर द्वारा निर्मित आर के स्टूडियो को भी बेच दिया था.तब सभी ने मान लिया था कि अब ‘‘आर के फिल्मस’’भी समाप्त हो गया.

ये भी पढ़ें- उर्वशी ढोलकिया ने छुपाई कोरोना होने की बात, ठीक होते ही किया ये काम

मगर  अब पूरे 21 वर्ष बाद रणधीर कपूर ने अपने पिता राज कपूर के बैनर ‘‘आर के फिल्मस’’को पुुनः जीवित करने का फैसला लिया है.इस बैनर के तहत वह एक प्रेम कहानी प्रधान फिल्म का निर्माण व निर्देषन करने वाले हैं.निर्देशन के क्षेत्र में रणधीर कपूर पहली बार नही उतरेंगें.इससंे पहले रणधीर कपूर ने 1971 में ‘कल आज और कल’’,1975 में ‘‘धर्म कर्म’’ और 1991 में ‘हीना ’का निर्देशन किया था.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT