‘हासिल’, ‘चरस’, ‘पान सिंह तोमर’, ‘साहब बीवी और गैंगस्टर’ व ‘साहब बीवी और गैंगस्टर रिटर्न’ जैसी फिल्मों के निर्देशक तिग्मांशु धूलिया ने जहां पौलिटिक्स की बात की है वहीं बौलीवुड में राजनीति की ही तरह व्याप्त भाईभतीजावाद को ले कर वे काफी गुस्से में नजर आते हैं. उन का गुस्सा इस बात पर है कि जिस तरह से राजनेता अपने बेटों को राजनेता बना रहे हैं उसी तरह से बौलीवुड के कलाकार अपने बेटों को फिल्मी हीरो बनाने पर तुले हुए हैं, भले ही उन के बेटों को अभिनय न आता हो.

तिग्मांशुजी, गुस्सा करना आप का अधिकार है लेकिन इस का कोई असर होगा, ऐसा तो नहीं लग रहा है

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...