कोरोना महामारी की वजह से गत वर्ष 17 मार्च से फिल्म इंडस्ट्री लगभग ठप पड़ी हुई है. जब 2020 में कोरोना की लहर ने पसरना शुरू किया था तब किसी को उम्मीद न थी कि यह कोरोना की लहर फिल्म इंडस्ट्री को ऐसी तबाही के मुकाम पर ला कर खड़ा कर देगी कि इस के लिए फिर से अपने पैरों पर खड़ा होना मुश्किल हो जाएगा. पर ऐसा हुआ. जानकारों की मानें तो 2020 में फिल्म इंडस्ट्री को करीबन 2,500 करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है.

अक्टूबर 2020 के बाद धीरेधीरे फिल्म इंडस्ट्री ने काम करना शुरू किया था और लोगों के अंदर एक आशा की किरण जागी थी कि जल्द ही सबकुछ ठीक हो जाएगा, मगर फिल्म इंडस्ट्री में सिर्फ 25 प्रतिशत ही काम शुरू हो पाया था कि कोरोना की नई लहर इस इंडस्ट्री के लिए ऐसी तबाही ले कर आई है कि अब इसे पटरी पर लाना किसी के भी बस की बात नहीं है. लगभग सभी पस्त हो चुके हैं. यह ऐसा कड़वा सच है जिस पर फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों के साथसाथ सरकार को भी गंभीरता से विचार करने की आवश्यकता है.

ये भी पढ़ें- सोनू  निगम, हेमा सरदेसाई, सुष्मितासेन समेत कई दिग्गज कलाकारों को

यों तो 2020 की शुरुआत भी फिल्म इंडस्ट्री के लिए अच्छी नहीं हुई थी. जनवरी से 15 मार्च 2020 तक सिर्फ अजय देवगन की फिल्म ‘तान्हाजी’ ने ही बौक्सऔफिस पर अच्छी कमाई की थी. इस फिल्म के अतिरिक्त अन्य फिल्में बौक्स औफिसपर बुरी तरह से धाराशायी हो गई थीं. उस के बाद कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए सिनेमाघर मालिकों ने सुरक्षा के दृष्टिकोण से एहतियातन सिनेमाघर बंद करने शुरू कर दिए थे और 17 मार्च से पूरे देश के सिनेमाघर बंद हो गए.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT