25 मई को प्रदर्शित होने वाली अपनी फिल्म ‘परमाणुः ए स्टोरी आफ पोखरण’ को लेकर अति उत्साहित जौन अब्राहम खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं कि उन्हें देश को शक्तिशाली बनाने वाली 1998 की इस घटना पर फिल्म बनाने व उसमें एक अहम भूमिका निभाने का अवसर मिला. इसी के साथ उनका मानना है कि सोशल मीडिया पानी का बुलबुला मात्र है.

COMMENT