फिल्म ‘बाहुबली’ से चर्चित होने वाले अभिनेता प्रभास हैदराबाद के हैं. उन का परिवार तमिल और तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री से जुड़ा था, पर उन्हें अभिनेता बनने का शौक नहीं था. उन्होंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है और एक व्यवसायी बनने की इच्छा रखते थे. पर उन की कदकाठी उन्हें इस क्षेत्र की ओर ले आई और आज वे सब से अधिक फीस लेने वाले एक्टर बन चुके हैं. उन्हें हिंदी लिखना और पढ़ना अच्छी तरह से आता है. दक्षिण की फिल्मों में अमिट छाप छोड़ने वाले प्रभास ने हिंदी फिल्म ‘साहो’ से डैब्यू किया है और आगे भी हिंदी फिल्मों में काम करना चाहते हैं.

‘बाहुबली’ के बाद जिंदगी कितनी बदली है? इस प्रश्न के जवाब में प्रभास कहते हैं, ‘‘अभी कैरियर की कोई चिंता नहीं है. ‘बाहुबली’ की दोनों फिल्में बौक्स औफिस पर कामयाब रही हैं. मैं ने पहले ‘बाहुबली’ को तमिल और तेलुगू में किया था. दक्षिण में इस फिल्म ने अच्छा काम किया था, पर ‘बाहुबली’ का दूसरा भाग तो बहुत ही खास था. इसे पूरे देश में लोगों ने देखा और मेरे काम को सराहा. केवल देश में ही नहीं, विदेश में भी इस फिल्म को देखा गया.’’

ये भी पढ़ें- ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’: नायरा और कार्तिक से नफरत करने लगेंगे लव-कुश

आप बौक्स औफिस की सफलता को कैसे लेते हैं? इस पर वे कहते हैं, ‘‘इसे देखना जरूरी होता है, क्योंकि जब आप एक फिल्म बनाते हैं, तो उस में करोड़ों रुपए लगे होते हैं. ऐसे में कौन सी फिल्म कहां चलेगी और कितनी चलेगी, इसे देखना चाहिए ताकि फिल्म बनाने वाले को नुकसान न हो.’’

हिंदी फिल्म में आप पहली बार आ रहे हैं, इस में कितना सफल होंगे? पूछे जाने पर वे कहते हैं, ‘‘फिल्म ‘साहो’ अगर दर्शकों को पसंद आती है, तो आगे भी काम मिलेगा. तमिल, तेलुगू, मलयालम के साथ हिंदी फिल्में भी करने की मेरी इच्छा है. कुछ रीजनल फिल्में भी करना चाहता हूं, लेकिन इन सब से जरूरी है सही स्क्रिप्ट का होना. ‘बाहुबली’ के बाद पता चला है कि फिल्मों में भाषा से अधिक उस की स्क्रिप्ट अच्छी होनी चाहिए. स्क्रिप्ट के दम पर ही ‘मैंने प्यार किया’ फिल्म मेरे गांव में भी करीब 150 दिनों तक चली थी. मेरे ग्रैंडफादर ने 10 बार इस फिल्म को देखा था और उन्हें सलमान खान बहुत पसंद थे. अच्छी फिल्में हर कोई पसंद करता है.’’

आप किस तरह की फिल्मों में काम करना चाहते हैं? इस पर वे अपनी मंशा कुछ यों जाहिर करते हैं, ‘‘मैं ने सोचा था कि ‘बाहुबली’ के बाद मैं एक लवस्टोरी करूंगा, पर मुझे ऐक्शन फिल्म मिल गई. यह सही है कि जिस फिल्म से आप सफल होते हैं, वैसी भूमिका आप को मिलने लगती है. आगे रोमांटिक फिल्में करने की इच्छा है.’’

‘बाहुबली’ के बाद आप के महिला प्रशंसकों की संख्या बहुत बढ़ गई है, शादी के प्रस्ताव भी आ रहे हैं, इसे कैसे लेते हैं? इस पर प्रभास कहते हैं, ‘‘मैं ‘बाहुबली’ के बाद अपने फ्रैंड्स और परिवार के बीच में रहा. मैं फिल्मों के अलावा अधिक पब्लिकपर्सन नहीं हूं. मुझे पता है कि ‘बाहुबली’ के बाद कई मैरिज प्रपोजल आए हैं, पर शादी जब होनी होगी, तब होगी. शादी के लिए एक सही लड़की का होना जरूरी है.’’

आप स्टंट करते वक्त किस बात का खास ध्यान रखते हैं और यूथ को इस बारे में क्या मैसेज देना चाहेंगे? इस पर गंभीर होते हुए वे अपना मत व्यक्त करते हैं, ‘‘मैं ने 17 साल की इस जर्नी में कई फिल्मों में कई सारे ऐक्शन किए हैं. मैं ने कभी बौडीडबल का प्रयोग करने नहीं दिया. इस से मुझे बहुत सारी इंज्युरी भी हुई हैं. इसलिए, सभी ऐक्शन मास्टर मेरे साथ काम करना पसंद करते हैं, क्योंकि मैं सारे खतरनाक स्टंट खुद करता हूं. रोप वर्क, 40-50 फुट से जंपिंग आदि सभी स्टंट मैं ने किए हैं. लेकिन, अब मैं इतने रिस्की स्टंट नहीं करता. अब मेरे लिए सेफ्टी अधिक जरूरी है.

ये भी पढ़ें- ‘ये रिश्ता कहलाता है’: क्या सुरेखा मारेगी नायरा को जोरदार थप्पड़ ?

‘‘मैं यूथ से कहना चाहता हूं कि मेरी फिल्म को एंजौय करें. घर पर ऐक्शन को फौलो करने की कोशिश कभी न करें. ऐक्शन चाहे वीडियो गेम्स में हो या कहीं भी, उस में मजा आता है, इसलिए यूथ इसे पसंद करते हैं. ऐक्शन करते वक्त सावधानी बहुत ही जरूरी है.’’

आप स्कूल कालेज के दिनों में कैसे थे और दिल से कितने रोमांटिक हैं? इस पर वे बताते हैं,’’मैं स्कूलकालेज में कभी भी लड़कियों से बात नहीं करता था. मैं बहुत शर्मीले स्वभाव का था, शरारती था और कई बार सजा भी मिली है. शरारत करने के लिए बैंच के नीचे छिप जाता था, जिस से टीचर की डांट भी पड़ती थी.

‘‘मैं दिल से शायद रोमांटिक हूं, वरना रोमांटिक फिल्में करना मुश्किल था. सैट पर रोमांटिक सींस करना मुश्किल नहीं होता. मुझे याद आता है कि शुरूशुरू में एक फिल्म में मैं रोमांटिक दृश्य को सही तरीके से परफौर्म नहीं कर पाया था, जिस के लिए निर्देशक ने मुझे बाद में समझाया था.’’

अभी आप सलमान की ‘जय हो’ फिल्म को टक्कर देने वाले हैं, क्योंकि ‘साहो’ का अर्थ भी जय हो ही है, क्या कहना चाहेंगे? इस पर प्रभास कहते हैं, ‘‘मैं सलमान का फैन हूं. उन के साथ मेरी कोई प्रतियोगिता नहीं है. उन्होंने इंडस्ट्री में एक अच्छा मुकाम हासिल किया है. वे कई नए कलाकारों के लिए प्रेरणास्रोत हैं. 40 साल से वे काम कर रहे हैं. उन्होंने बहुत सारी अच्छी फिल्में दी हैं.’’

किस अभिनेता ने आप को प्रेरित किया है? यह पूछे जाने पर प्रभास स्पष्ट कहते हैं, ‘‘आमिर खान से मैं बहुत प्रभावित हूं. उन्होंने ‘लगान’ और ‘दिल चाहता है’ दोनों फिल्मों को एकसाथ किया है और इस तरह की अलग कहानियों की फिल्मों का सफल होना अपनेआप में काबिलेतारीफ है.’’ वे आगे कहते हैं कि अभिनेता कमल हासन के अभिनय को भी वे बहुत पसंद करते हैं.

ये भी पढ़ें- ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’: 3000वें एपिसोड में कार्तिक और नायरा आए करीब!

Tags:
COMMENT