2017 की स्पैनिश फिल्म ‘‘द इनविजिबल गेस्ट’’ की हिंदी रीमेक फिल्म ‘‘बदला’’ एक बेहतरीन पटकथा पर बनी फिल्म होते हुए भी आम दर्शकों के लिए नहीं है. इस फिल्म में 2016 की सफल फिल्म ‘पिंक’ की जोड़ी अमिताभ बच्चन और तापसी पन्नू मुख्य भूमिका में हैं. अपराध, रहस्य व रोमांचक फिल्म का निर्माण करना सदैव बहुत कठिन होता है, मगर फिल्मकार सुजाय घोष एक बेहतरीन फिल्म बनाने में कामाब रहे हैं.

फिल्म की कहानी फ्रांस की है, जहां नैना सेठी(तापसी पन्नू) एक सफल बिजनेस वूमेन है.परिवार में उसके पति सुनिल व बेटी है. पर फोटोग्राफर अर्जुन(टोनी लुक) के साथ उसके अवैध संबंध है. कहानी शुरू होती है नैना पर अर्जुन की हत्या का आरोप लगने से. नैना की गिरफ्तारी हो जाती है. पर वकील जिम्मी(मानव कौल) किसी तरह नैना को जमानत पर छुड़ा लेता है. मगर अदालत में वे बाइज्जत बरी हो जाए, इसके लिए जिम्मी की सलाह पर नैना एडवोकेट बादल गुप्ता(अमिताभ बच्चन) की मदद लेती हैं और बादल गुप्ता, नैना से मिलने तय समय से पहले ही पहुंच जाते हैं. फिर बादल गुप्ता, नैना से कहते हैं कि वे सब कुछ उन्हें सच सच बताएं. नैना कहानी बताना शुरू करती हैं. नैना की कहानी के दो रूप सामने आते हैं. बहरहाल नैना की कहानी शुरू होती है अर्जुन के साथ एक शहर में कुछ दिन बिताने के बाद वापसी से.

जब नैना सेठी व अर्जुन वापस आ रहे होते हैं,तो रास्ते में एक कार से उनकी कार की टक्कर हो जाती है. पता चलता है कि उस कार को चला रहे युवक सनी सिंह की मौत हो गयी है. पर वह इसकी सूचना पुलिस को नहीं देते. नैना,सनी को उसी की कार की डिक्की में डालने के बाद उसकी कार को ले जाकर नदी में डुबा देती है. जबकि नैना की कार को अर्जुन लेकर आगे बढ़ना चाहता है, पर कार बंद हो चुकी है. पीछे से आ रही एक कार रूकती है, जिसमें निर्मल सिंह और उनकी पत्नी रानी कौर(अमृता सिंह) हैं. यूं तो दोनो बहुत अच्छे अभिनेता हैं. मगर निर्मल सिंह एक होटल में नौकरी करते हैं और वह बहुत अच्छे मैकेनिक हैं. रानी कौर के कहने पर निर्मल,नैना की कार को अपनी गाड़ी के साथ अपने घर ले जाते हैं. जहां पर वह उनकी कार को ठीक कर देते हैं.रानी कौर के घर से विदा लेने से पहले अर्जुन को सनी का मोबाइल रानी को देना पड़ता है. फिर नैना व अर्जुन मिलते हैं और अपने अपने घर चले जाते हैं. नैना अपने बिजनेस में मग्न हो जाती है. पर सनी के न मिलने से सनी की मां रानी कौर उसकी तलाश शुरू करती हैं. रानी कौर पुलिस की मदद लेती हैं. और शक अर्जुन से होते हुए नैना पर जाता है. रानी कौर ने जो हुलिया बताया उससे पुलिस ने अर्जुन का स्केच बनवा लिया है. पर पूछताछ में नैना व उनके वकील जिम्मी यह साबित कर देते हैं कि नैना उस दिन पेरिस में थी. उसकी कार किसी ने चुरा ली थी. कार में मौजूद इंसान अर्जुन को वह नही पहचानती. उसके बाद नैना अपने बिजनेस व परिवार में मग्न हो जाती है. नैना की कंपनी जापान की एक कंपनी के साथ समझौता करके एशिया की सबसे बड़ी कंपनी बन जाती है. इधर रानी कौर को पुलिस पर यकीन नहीं होता और वह नैना का पीछा करना शुरू कर देती हैं.

आगे की कहानी पढ़ने के लिए सब्सक्राइब करें

सरिता डिजिटल

डिजिटल प्लान

USD4USD2
1 महीना (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

डिजिटल प्लान

USD48USD10
12 महीने (डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें

प्रिंट + डिजिटल प्लान

USD100USD79
12 महीने (24 प्रिंट मैगजीन+डिजिटल)
  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
सब्सक्राइब करें
और कहानियां पढ़ने के लिए क्लिक करें...