बॉलीवुड में हमेशा  पूर्वोत्तर भारत की उपेक्षा की जाती रही है.पूर्वोत्तर भारत से आने वाले कलाकारों को बॉलीवुड में कभी भी अहमियत नहीं मिली.जबकि पूर्वोत्तर भारत खासकर असम ने दिपानिता शर्मा, परिणीता बोरठाकुर,प्लाबिता बोरठाकुर, आदिल हुसेन सहित कई बेहतरीन कलाकार दिए है.पूर्वोत्तर भारत के प्रति बॉलीवुड उदासीन रवैए के ही चलते अभिनेत्री दिपानिता शर्मा को बहुत ज्यादा काम नही मिला.जबकि दिपानिता शर्मा ने ‘16 दिसंबर’, ‘दिल विल प्यार व्यार’ ,‘असंभव’,‘जोड़ी बे्रकर’,‘टेक इट इजी’,‘काफी विथ डी’ और ‘वार’सहित कई फिल्मों में अपने अभिनय का जलवा दिखाया है.

बहरहाल,अब दिपानिता शर्मा ने एक कदम आगे बढ़ाते हुए बतौर निर्माता एक मनोवैज्ञानिक रोमांचक फिल्म‘‘पीपर चिकन’’का निर्माण किया ैहै,जिसके निर्देशक रतन सील शर्मा हैं.इस फिल्म में दिपानिता शर्मा ने स्वयं बोलोराम दास, बहारुल इस्लाम, रवि सरमा और मोनूज बोरकोतोकी के साथ अभिनय भी किया है.इस फिल्म का प्रदर्शन छह नवंबर से ‘‘शेमारूमी बाक्स ऑफिस’’ पर होगा.

ये भी पढ़ें- बिग बॉस 14: जान कुमार सानू से नाराज हुई अर्शी खान, बोली मराठी भाषा में मांगे

असम के प्राचीन जंगलो में फिल्मायी गयी इस फिल्म की कहानी के केंद्र में कार सवारी है.जिसमें कैब ड्राइवर और सवारी के बीच मनोवैज्ञानिक स्तर पर चूहे बिल्ली का खेल शुरू हो जाता है और कई रोमांचक घटनाएं घटित होती हैं.

इस फिल्म के किरदार को लेकर अभिनेत्री व निर्माता दीपानिता शर्मा कहती हैं-“मेरा किरदार पूरी फिल्म में भावनाओं से भरा है. उसकी यात्रा काफी सशक्त है और यह एक ऐसी भूमिका थी जिसे मैंने पूरी तरह से सराहा था. यह न केवल अभिनय करने के लिए बल्कि निर्माण के दृष्टिकोण से भी बहुत जिम्मेदारी है, लेकिन यह तथ्य कि पीपर चिकन अब शेमारू बॉक्स मी बाक्स ऑफिस पर रिलीज हो रही है.यह वास्तव में मेरे दिल के करीब हैं.भारत के उत्तर पूर्वी हिस्से में बेहतरीन प्रतिभाओं द्वारा बनाई गई एक जुनूनी फिल्म है”

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT