इन दिनों फिल्मकार राम कमल मुखर्जी के पैर जमीं पर नहीं पड़ रहे हैं. इसकी मूल वजह यह है कि उनकी फिल्म ‘‘एक ट्रिब्यूट टू रितुपर्णो घोष सीजंस ग्रीटिंग्स’’  पहली भारतीय फीचर फिल्म बन गयी है, जिसके साथ संयुक्त राष्ट्र ने स्वतंत्रता और समानता के तहत हाथ मिलाया. लेखक व निर्देशक राम कमल मुखर्जी की यह दूसरी फिल्म है. इससे पहले इस साल की शुरुआत में ईशा देओल अभिनीत लघु फिल्म केकवाक के निर्देशन से अपनी शुरुआत की थी.

Tags:
COMMENT