जिन के मन में लगन हो, क्रिएटीविटी भी और कुछ नया करने की इच्छा भी, वे किसी न किसी माध्यम से देश दुनिया के लोगों तक अपनी बात पहुंचा ही देते हैं. स्विएडा, सीरिया की रहने वाली 20 वर्षीय बैले डांसर और जिमनास्ट यारा खुदैर ऐसे ही लोगों में हैं. 7 साल पहले जब सीरिया में हर जगह तबाही के मंजर नजर आते थे, तब यारा 13 साल की थी. कह सकते हैं कि यारा खुदैर तबाही के मंजर देखतेदेखते किशोरावस्था से जवान हुईं. इसी बीच उन्होंने बैले डांस और जिमनास्टिक सीखा.

Tags:
COMMENT