क्या आपने कभी सुना है कि कोई खिलाड़ी मैच रोक दे क्योंकि उसे कोई गीत याद नहीं आ रहा? जी, सिर्फ विरेंद्र सहवाग ही ऐसा कर सकते हैं. मामला अप्रैल 2008 का है, जब उन्होंने चेन्नै में साउथ अफ्रीका के खिलाफ तिहरा शतक बनाया.

सहवाग ने कहा, ‘मैं चेन्नई में 300 पर बल्लेबाजी कर रहा था. मैं गीत के बोल भूल गया. तब मैंने 12वें खिलाड़ी इशांत शर्मा को मैदान पर बुलाकर कहा कि मेरे आईपॉड से गीत के बोल निकालकर लाए और उसने ऐसा किया. सबने सोचा कि मैंने इशांत को ड्रिंक्स के लिए बुलाया है लेकिन कई बार 12वें खिलाड़ी को ऐसे भी इस्तेमाल किया जा सकता है. वह गीत था, ‘तू जाने ना.’ सहवाग ने यह बात गोरेगांव स्पोर्ट्स क्लब प्रीमियर लीग के दूसरे सीजन के उद्घाटन के मौके पर कही.

और ‘रावलपिंडी एक्सप्रेस’ शोएब अख्तर को खेलते हुए आप कौन सा गीत गाएंगे? ‘आ देखें जरा, किसमें कितना है दम’ उन्होंने फौरन जवाब दिया. सहवाग से जब पूछा गया कि बल्लेबाजी करते हुए आप हमेशा गीत क्यों गाते रहते हैं? उन्होंने कहा, ‘गेंद खेलने से पहले मैं यही सोचता रहता हूं कि इस पर मुझे चौका मारना है या छक्का. ज्यादा सोचने से बचने और अपना ध्यान केंद्रित करने के लिए मैंने गीत गाना शुरू कर दिया.’

सहवाग अब मैदान पर तो नजर नहीं आते लेकिन 38 वर्षीय यह पूर्व ओपनर अब टि्वटर पर अपने वन लाइनर्स के लिए फेमस हो रहे हैं. टेस्ट क्रिकेट को रोमांचक बनाने वाले सहवाग अब हिन्दी कॉमेंट्री में भी अपनी खास जगह बना रहे हैं.

सहवाग ने बताया, एक बार मुंबई में इंग्लैंड के खिलाफ मैच के दौरान ऐंड्रू फ्लिंटॉफ मुझे लगातार बाउंसर्स फेंक रहे थे. मैंने उनके पास जाकर कहा, अगर तुम बाउंसर्स नहीं फेंकोगे तो मैं शाम को तुम्हें ऐसी जगह ले चलूंगा जहां बहुत अच्छी कढ़ी मिलती है. और तरकीब काम कर गई.’

नोटबंदी पर सहवाग ने कहा, ‘मेरा मानना है कि कुंवारे आदमी बदलाव लाते हैं और शादीशुदा आदमी या तो घर के लिए सब्जी लाता है या फिर कुत्ते को घुमाने ले जाता है.’

अपने शादीशुदा जीवन पर उन्होंने कहा कि यहां मैं वही नियम अपनाता हूं जो बल्लेबाज के तौर पर अपनाता था, ‘अंपयार से कभी बहस मत करो, क्योंकि वह मुझे कभी भी आउट दे सकता है. इसी तरह मैं अपनी पत्नी से भी बहस नहीं करता. अंपायर फिर भूल सकता है, लेकिन आपकी पत्नी को लड़ाई के दौरान हुई सारी बातें पूरी तरह याद होंगी.’

टेस्ट क्रिकेट में दो तिहरे शतक लगाने वाले इकलौते भारतीय बल्लेबाज ने साफ किया कि आज कॉमेंट्री उनका नया पैशन है. उन्होंने कहा, ‘मुझे माइक पर बोलना पसंद आ रहा है. यह एक जुनून बन गया है. कॉमेंट्री के दौरान चुटकुले और वन-लाइनर्स सुनाना मुझे पसंद है.’