सरिता विशेष

बौलीवुड में इन दिनों बायोपिक का दौर चल रहा है. असल जिंदगी के लोगों की कहानी और संघर्ष को बड़े परदे पर फिल्म के माध्यम से दिखाना अब एक ट्रेंड बन गया है. अब दर्शक भी अपनी पसंद बदल कर असली जिंदगी के हीरो के बारे में अधिक जानना चाहते हैं. इसलिए बौलीवुड के एक्टर्स भी इस तरह के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं.

वो अपनी फिल्मों के जरिये उन लोगो के जीवन के सच और संघर्ष लोगों को दिखाने की कोशिश कर रहे हैं जो काल्पनिक नहीं है. ये बायोपिक फिल्में ज़्यादातर खिलाड़ियों के जीवन पर बनी हैं. लेकिन अगर हम आपसे पूछे की क्या आप जानते हैं, इनमें से कुछ खिलाडियों ने अपनी जीवन पर फिल्म बनाने के लिए पैसों की मांग भी की है. वहीं कुछ ने तो एक भी पैसा नहीं वसूला.

भाग मिल्खा भाग

मिल्खा सिंह एक ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने 1958 में भारत को कौमनवेल्थ खेल में गोल्ड मैडल दिला कर विश्व भर में भारत का नाम रोशन किया है. उनकी इस उपलब्धि और संघर्ष को डायरेक्टर ओम प्रकाश मेहरा ने बड़े परदे पर फिल्म ‘भाग मिल्खा भाग’ के रूप में उतार दिया था. मिल्खा सिंह ने इसके लिए उनसे सिर्फ 1 रुपये चार्ज किये थे. मिल्खा सिंह की कहानी को बहुत पसंद किया गया और फिल्म ने अच्छा कारोबार भी किया था. इस फिल्म के लिए फरहान अख्तर को बेस्ट एक्टर का फिल्मफेयर और आईफा अवार्ड से सम्मानित किया गया था.

मैरी कौम

बौक्सर मैरी कौम पर बनी ये फिल्म अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि थी. उनके ऊपर फिल्म बनाये जाने के लिए इन्हें 25 लाख रुपये दिए गये थे. फिल्म में मैरी कौम का किरदार प्रियंका चोपड़ा ने निभाया था. इस फिल्म ने 100 करोड़ से ज़्यादा की कमाई की थी.

एम.एस.धोनी : द अनटोल्ङ स्टोरी

जब इस फिल्म का ऐलान हुआ था उसके बाद से लोग इस फिल्म को देखने के लिए पागल हो गये थे और हो भी क्यों न, इंडियन क्रिकेट टीम के सबसे पौपुलर खिलाड़ी के ऊपर फिल्म बनने वाली थी. फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत ने धोनी का किरदार निभाया था. इस फिल्म में दिशा पटानी के साथ अन्य कई कलाकारों ने काम किया था जिसे लोगों ने खूब पसंद किया. फिल्म ने अच्छी कमाई भी की. लेकिन क्या आप जानते हैं इस फिल्म को बनाए जाने के लिए धोनी ने 60 करोड़ जैसी बड़ी रकम की मांग की थी.

पान सिंह तोमर

सेना के जवान रहते हुए इंटरनेशनल एथलीट और फिर बागी बने पान सिंह तोमर की जिंदगी पर बनी इस फिल्म ने नाम और पैसा खूब कमाया था. इस फिल्म में पान सिंह का किरदार इरफान खान ने बखूबी निभाया था. पान सिंह का असल किरदार परदे पर दिखाने के लिए उनके परिवार को 15 लाख की रकम दी गई थी.

सचिन, ए बिलियन ड्रीम

सरिता विशेष

जब हम क्रिकेट के बारे में सोचते हैं तो एक नाम सबसे ऊपर आता है, वो हैं क्रिकेट के भगवान, मास्टर ब्लास्टर कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर. सचिन पर कोई फिल्म हो और उनके फैंस देखने न जाए ऐसा होना थोड़ा मुश्किल है. यही वजह रही होगी कि फिल्म ‘सचिन: ए बिलियन ड्रीम्स’ ने केवल दो दिन में 17 करोड़ से अधिक की कमायी कर ली थी. ये फिल्म कोई फीचर फिल्म नहीं बल्कि एक डौक्यूमेंट्री थी. ऐसी खबर थी कि सचिन ने इस डौक्यूमेंट्री को बनाये जाने के फिल्म मेकर्स से 40 करोड़ की बड़ी रकम मांगी थी.

अजहर

फिल्म अज़हर पौपुलर क्रिकेटर मोहम्मद अजरुद्दीन के जीवन पर आधारित थी. फिल्म बौक्स औफिस पर कोई कमाल नहीं कर पाई थी. इस फिल्म के लिए अजरुद्दीन ने एक भी पैसा नहीं लिया था. उनका मकसद अपनी असली कहानी को दर्शकों तक पहुंचना था. क्योंकि आज भी उनका नाम मैच फिक्सिंग जैसे मामले में जोड़ा जाता है.

दंगल

फिल्म दंगल एक ऐसे पिता और बेटियों की असल कहानी थी, जिसे लोग परदे पर देख कर अपने घर की कहानी से जोड़ने लगे थे. हरियाणा के रहने वाले पहलवान महावीर फोगाट के किरदार को आमिर खान ने इस कदर निभाया था कि फिल्म ने अभी तक के सारे रिकौर्ड तोड़ दिए हैं. इस फिल्म के लिए महावीर फोगाट को 80 लाख के करीब दिए गए थे.