बौलीवुड एक्टर राजकुमार राव और डायरेक्टर-कोरियोग्राफर फराह खान हाल ही में एक शो में नजर आए थे. ‘टैप कास्ट’ शो के अंदर दोनों सेलेब्स के बीच इंडस्ट्री से जुड़ी कई बातें हुईं. कई मुद्दे तो ऐसे थे जो हाल फिलहाल में सुर्खियों में छाए रहे जैसे – नेपोटिज्म. इसके अलावा फराह और राजकुमार राव के बीच इंडस्ट्री में होने वाली गौसिप, रूमर्स, एंबीशियन और रिजेक्शन की भी बातें हुईं.

इस दौरान राजकुमार राव से एक सवाल किया गया जिसमें उन्होंने एक समय इंडस्ट्री में अपने रिजेक्शन फेस करने की बात को जगजाहिर की, राजकुमार ने अपने रिजेक्शन का कारण बताया उनका चेहरे के रंग को. राजकुमार बताते हैं, ‘मैं फेयर एंड लवली नहीं लगाता था, मैं अपनी स्किन के कलर पर बहुत गर्व करता हूं, मैं एक एक्टर हूं. मैं यहां अपने फेयरनेस को बेचने नहीं आया हूं, इन चीजों पर हंसता हूं मैं. ऐसे लोगों का मानना है कि हीरो मतलब- गोरा चिट्टा, 6 फुट का.’

bollywood

वहीं राजकुमार ने इंडस्ट्री में अपने रिजेक्शन को लेकर एक और बात शेयर की. राजकुमार कहते हैं कि वह पारसी रोल प्ले करना चाहते थे. लेकिन उन्हें इसलिए रिजेक्ट कर दिया गया क्योंकि वह गोरे नहीं थे. इस पर फराह ने कहा, ‘पर आप पारसी जैसे नहीं दिखते हैं.’ तभी राजकुमार ने फराह को जवाब दिया कि नसीरुद्दीन शाह ने तो ‘पेस्टोनजी’ में पारसी का किरदार निभाया था.

ऐसे में फराह जवाब देती हैं, ‘ उनकी आवाज पारसी जैसी है और वह पारसी जैसा व्यवहार भी करते हैं.’ वहीं राजकुमार भी कहते हैं कि वह भी पारसी जैसे दिख सकते हैं. आपको नहीं लगता कि मैं पारसी का रोल प्ले नहीं कर सकता. फराह इस दौरान सकारात्मकता से हां करती हैं.

लेकिन उसी वक्त फराह इस बात पर भी जोर देती हैं और कहती हैं कि उचित समय पर आप वैसे नहीं दिखेंगे. उदाहरण देते हुए फराह कहती हैं, ‘अब आप अफ्रीकन-अमेरिकन का किरदार निभाएंगे तो उनके जैसे नहीं दिखेंगे, आप नहीं कर पाएंगे.’

Tags: