ऐतिहासिक शहर इलाहाबाद को शिक्षा और साहित्य की राजधानी कहें तो यह अतिशयोक्ति न होगा. इस शहर से नेहरू खानदान का नाम जुड़ा है जिस ने देश को 3 प्रधानमंत्री दिए हैं.

इलाहाबाद शहर का मशहूर चीनी यात्री ह्वेनसांग ने अपने यात्रा वृत्तांत में जिक्र किया है. इसे पहले प्रयाग नाम से जाना जाता था. समूचे उत्तर प्रदेश से ही नहीं बल्कि देशभर से छात्र पढ़ने के लिए यहां आते हैं. यहां इलाहाबाद विश्वविद्यालय के अलावा मोतीलाल नेहरू रीजनल इंजीनियरिंग कालिज, इंडियन इंस्टीट्यूट आफ रूरल टैक्नोलाजी और राजर्षि पुरुषोत्तम दास टंडन मुक्त विश्वविद्यालय शिक्षा के बड़े संस्थान हैं. शाह आलम और क्लाइव लायड के बीच हुई ऐतिहासिक संधि के लिए भी यह शहर जाना जाता है. संगम इलाहाबाद के आकर्षण का एक प्रमुख केंद्र है.

Tags:
COMMENT