हम अपनी रोजमर्रा की जरूरतों के लिए लैपटौप और स्मार्टफोन का भले ही इस्तेमाल करते हों लेकिन जब बात दुनिया की जरूरत की आती है या कहें कि जब करोड़ों लोगों की जरूरत को कोई एक कंप्यूटर पूरा करे तो वह सुपर कंप्यूटर बन जाता है. सुपर कंप्यूटर एक ऐसा कम्प्यूटर है जो आम जरूरतों को पूरा करने वाले किसी भी कंप्यूटर से हजारों, लाखों गुना ज्यादा क्षमता और स्पीड वाला होता है.

गूगल से ले कर फेसबुक और यूट्यूब से ले कर ट्विटर तक सभी सर्विसेज़ आज पूरी दुनिया की धडकनों में बसती हैं. आप को यह मालूम होना चाहिए कि एकसाथ करोड़ों लोगों को दी जाने वाली ये डिजिटल सर्विसेज किसी छोटेमोटे कम्प्यूटर से नहीं, बल्कि सुपरकम्प्यूटर से औपरेट होती हैं.

टौप 500 सुपरकम्प्यूटरों की सूची के टौप 100 में शामिल रहे 2 भारतीय सुपरकम्प्यूटरों की रैंकिंग ताज़ा सूची में नीचे आ गई है. वहीँ, इस बार भारत के 4 सुपर कम्प्यूटर ही टौप 500 में जगह बना सके, जबकि पिछली सूची में इन की तादाद थी.

भारत के सब से तेज प्रदर्शन वाले कंप्यूटर ‘प्रत्यूष’ की स्थिति जून के 39 से घट कर अब 45वें नंबर पर आ गई है. प्रत्यूष को पुणे स्थित इंडियन इंस्टिट्यूट औफ़ ट्रौपिकल मीटियोरोलोजी (आईआईटीएम) में इनस्टौल किया गया है.

वहीँ, नौएडा स्थित नेशनल सेंटर फौर मीडिया एंड वेदर फोरकास्टिंग (एनएसएमडब्लूएफ) में इनस्टौल किए गए सुपरकम्प्यूटर ‘मिहिर’ की रैंकिंग 66 से घट कर 73 पर आ गई.

आईआईटीएम के अनुसार, प्रत्यूष दुनिया में वेदर एंड क्लाइमेट यानी मौसम और जलवायु रिसर्च के काम में लगाया गया चौथा सब से तेज सुपरकम्प्यूटर है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT