प्यार नहीं पागलपन: लावण्य से मुलाकात के बाद अशोक के साथ क्या हुआ?

कवि सम्मेलन में अशोक की मुलाकात लावण्य से हुई तो फिर मुलाकातों का सिलसिला चल पड़ा लेकिन अशोक इस बात से अनजान था कि वह आगे किन परिस्थितियों में घिरने जा रहा है और वह इन सब से बाहर कैसे निकलेगा.

सरिता डिजिटल सब्सक्राइब करें
अपनी पसंदीदा कहानियां और सामाजिक मुद्दों से जुड़ी हर जानकारी के लिए सब्सक्राइब करिए
अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें