इन दलों का मकसद अपनी बहनबेटियों को इस पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव से बचाना, अश्लीलता से बचाना और शादी से पहले सैक्स जैसी क्रिया से दूर रखना है. लेकिन, यह कौन होते हैं किसी भी लड़की को यह बताने वाले कि उसे शादी से पहले या बाद में क्या करना चाहिए और क्या नहीं? इन में इतनी हिम्मत कहां से आती है कि ये खुलेआम चलती सड़क पर नारे लगाते हैं, लड़केलड़कियों को मारतेपीटते हैं?

Tags:
COMMENT