यौन उत्पीड़न की घटनाओं से भारतीय समाज ही नहीं, अमेरिकी समाज भी उद्वेलित है लेकिन विभाजित है. हाल की सुखिर्यों में रहीं कुछ खबरों पर गौर करें तो उन में एक खास बात यह है कि समाज समर्थन और विरोध दो हिस्सों में बंटा हुआ दिखाई दे रहा है.

पहले बात करते हैं अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट के जज ब्रेट कानावाह की. ब्रेट पर 3 महिलाओं ने यौन शोषण का आरोप लगाया था. इसे ले कर अमेरिका में कई जगहों पर प्रदर्शन हुए और उन्हें जज नियुक्त नहीं किए जाने की मांग की गई पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यौन आरोपों के बावजूद शुरू से ही ब्रेट का समर्थन किया और अमेरिकी सीनेट में कावानाह के पक्ष में 50 तो विपक्ष में 48 वोट पड़े.

COMMENT